Bulli Bai: तुरंत हटाएं मुस्लिम महिलाओं की विवादित तस्वीरें, दिल्ली पुलिस का ट्विटर को आदेश

दिल्ली. दिल्ली पुलिस (Delhi Police ) ने सोशल मीडिया एप्लिकेशन ट्विटर (Twitter) को खत लिखा है और Bulli Bai डेवलपर और उसके ट्विटर हैंडल से मुस्लिम महिलाओं की विवादास्पद तस्वीरों को हटाने को कहा है. इसके साथ ही दिल्ली पुलिस द्वारा होस्टिंग प्लेटफार्म “गिटहब ” (GitHub platform) द्वारा आपत्तिजनक पोस्ट करने वाले कुछ यूजर्स को ब्लॉक करने वालों की जानकारियां भी मांगी गई है.

क्यों विवादास्पद मुद्दों के लिए चर्चा के केंद्र में आया है “बुल्ली बाई “
पिछले कुछ दिनों से मोबाइल एप्लीकेशन “बुल्ली बाई ” काफी चर्चा का केंद्र में  बना हुआ है. दरअसल कुछ दिनों पहले कुछ प्रभावशाली मुस्लिम महिलाओं की विवादास्पद तस्वीरों के साथ छेड़छाड़ करके उस पर अश्लील शब्द लिखकर “बुल्ली बाई” मोबाइल एप्लीकेशन पर अपलोड कर दिया गया था, जिसके विरोध में दिल्ली पुलिस( Delhi police ) और मुम्बई पुलिस (Mumbai Police)   को कुछ महिलाओं ने अपनी लिखित शिकायत दी.  लिहाजा मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस की टीम ने इस मामले को दर्ज करके तफ़्तीश शुरू कर दी. इसी वजह से दिल्ली पुलिस द्वारा ट्विटर को भी खत लिखकर ये जानने का प्रयास किया जा रहा है कि वो कौन -कौन से आरोपी हैं ,जिन्होंने उन विवादास्पद तस्वीरों को अपलोड किया था. बुल्ली बाई मोबाइल एप्प पर तकरीबन 100 से ज्यादा प्रतिभाशाली मुस्लिम समुदाय से जुड़े महिलाओं की तस्वीरों को नीलामी के लिए उपलोड किया गया. इस मामले में साउथ दिल्ली के चितरंजन पार्क थाना , साउथ ईस्ट जिला अन्तर्गत साइबर क्राइम थाना में कई धाराओं के तहत मामला दर्ज करने के बाद आगे की तफ़्तीश जारी है.

बुल्ली बाई एप्प पर जैसे मुस्लिम समुदाय की प्रतिभाशाली महिलाओं की विवादित तस्वीरों को उपलोड करने का मामला सामने आया है ,ऐसा ही मामला पिछले साल भी एक ऐसा ही विवादित मामला सामने आया था , जिसका नाम था – ” सुल्ली डील्स ” है. बुल्ली बाई और सुल्ली डील्स मोबाइल एप्प  इन दोनों मोबाइल एप्प में काफी समानता देखने को मिल रही है. जैसे कि सबसे बड़ी समानता है कि ये दोनों मोबाइल एप्प को होस्टिंग प्लेटफार्म “गिटहब” पर पेश किया गया था. जिसके बाद उत्तरप्रदेश पुलिस और दिल्ली पुलिस द्वारा उस वक्त मामला दर्ज किया गया था ,लेकिन उस वक्त आरोपियों के खिलाफ  बहुत ज्यादा कार्रवाई नहीं करने का आरोप पीड़िता द्वारा लगाया गया.

अब इस मामले पर जिस तरह केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी  मंत्री अश्विनी वैष्णव सोशल मीडिया पर अपना विचार डाला और उसके खिलाफ कार्रवाई की बात कही है ,अब पुलिस भी काफी सतर्कता के साथ कार्रवाई करने के लिए जुट गई है. इस मामले में शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने भी कार्रवाई की मांग की है.

Check Also

रूस-यूक्रेन संघर्ष से भारत ने टैंकर विमान बेड़े को अपग्रेड करने की योजना टाली

नई दिल्ली, 06 जुलाई (हि.स.)। रूस-यूक्रेन संघर्ष की वजह से भारतीय वायु सेना ने अपने …