प्रधानमंत्री की सुरक्षा में खूनी खिलवाड़ और साजिश के तार कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व से जुड़ा है: दीपक प्रकाश

रांची :  पंजाब में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सुरक्षा में हुए चूक को भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद दीपक प्रकाश ने एक गम्भीर षड्यंत्र बताया है। प्रकाश ने आज यहां पार्टी के प्रदेश कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि यह अचानक नहीं बल्कि आयोजित, कुदरती नहीं बल्कि कॉन्सिप्रेसि, संयोग नहीं बल्कि एक खूनी साज़शिन प्रयोग है। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री की सुरक्षा के साथ 5 जनवरी को हर पल खिलवाड़ होता रहा और पंजाब पुलिस मूकदर्शक बनकर खड़ी रही।

 

प्रधानमंत्री के काफिले वाली सड़क पर प्रदर्शनकारी और रेडिकल ग्रुप्स अपनी मनमानी करते रहे और पुलिस मूकदर्शक बन कर खड़ी रही। कहा कि पुलिस को प्रदर्शनकारियों पर कारर्वाई न करने के निर्देश कांग्रेस की चन्नी सरकार द्वारा दिए गए थे। प्रकाश ने कहा कि मामले के स्टिंग ओप्रेसन के खुलासे के बाद सब कुछ साफ हो गया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के दौरे को लेकर जमीनी हकीकत जुटाने वाले सीआईडी के डीएसपी सुखदेव सिंह (फिरोजपुर) ने बताया कि संवेदनशील इलाके में प्रधानमंत्री की रैली से पहले उन्होंने पूरी एक एक पल जमीनी हकीकत अपने आला अधिकारियों को वक्त रहते बताई थी। 2 जनवरी को उन्होंने साफ कर दिया था कि प्रदर्शनकारी प्रधानमंत्री का विरोध करने के लिए सड़कों पर उतरेंगे।

 

प्रदर्शनकारियों के सड़क पर आने से पहले भी एसएसपी को बता दिया गया था। पल-पल की जानकारी दी गई। खालिस्तान गुट भी रैली के खिलाफ सक्रिय था। प्रकाश ने कहा कि स्टिंग ओप्रेसन में कुलगढ़ी एसएचओ बीरवल सिंह ने कहा हमे आदेश होता तो हम प्रदर्शनकारियों को हटा देते। राज्य सरकार का ऊपर से आदेश था कि प्रदर्शनकारी किसानों को हाथ तक नहीं लगाना है। अगर आदेश होता तो बीरबल सिंह कहते हैं कि फिर तो उनको रास्ते से हटा दिया जाता लेकिन पुलिस को आदेश नहीं था कि सख्ती बरते लेकिन पुलिस को ये भी पता था कि किसानों के नाम पर रेडिकल ग्रुप प्रधानमंत्री के विरोध के लिए एकत्रित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस थाने के प्रभारी बीरबल सिंह ने आगे बताया की सभी को पता है ये किसान विसान कुछ नही हैं बल्कि मुखालफत हो रही है। ये सारे रेडिकल्स (कट्टरपंथी है। नाम किसान का लगा लिया है किसान से नाम पर कोई भी इकट्ठा हो जाता है।

Check Also

झारखंड में कोरोना से 11 की मौत, 1411 नए केस और 3409 हुए स्वस्थ

रांची, 25 जनवरी (हि.स.)झारखंड में कोरोना लगातार कहर बरपा रहा है। कोरोना की वजह से …