घड़े का पानी पीने पर शिक्षक की पिटाई से दलित छात्र की मौत

जालोर : जिले में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. यहां एक निजी स्कूल के शिक्षक ने तीसरी कक्षा के दलित छात्र को इतनी बुरी तरह पीटा कि घड़े का पानी पीने से उसकी मौत हो गई. मामले की रिपोर्ट के बाद आरोपी शिक्षक को हिरासत में ले लिया गया है.

सियाला थाने में दर्ज रिपोर्ट के अनुसार सुराणा निवासी किशोर कुमार ने रिपोर्ट देते हुए बताया कि उसका भाई देवराम पुत्र इंद्र कुमार सरस्वती विंध्य मंदिर तीसरी कक्षा में पढ़ता है. इंदर कुमार 20 जुलाई को स्कूल गया था। इसी दौरान गुस्साए शिक्षक चैल सिंह ने घड़े का पानी पीकर इंदर कुमार की पिटाई कर दी. रिपोर्ट में आरोप लगाया गया है कि शिक्षक ने बर्तन से पानी पीने के लिए बच्चे को थप्पड़ मारा, जिससे बच्चे के दाहिने कान और आंख में अंदरूनी चोटें आईं.

दलित छात्र की मौत

घड़े का पानी पीने पर शिक्षक की पिटाई से दलित छात्र की मौत

कान में तेज दर्द होने पर इंदर कुमार ने स्कूल के सामने स्थित अपने पिता देवराम की दुकान पर जाकर घटना की जानकारी दी. इसके बाद देवराम ने मेडिकल शॉप से ​​दवा ली और बच्चे को घर ले गया। बच्चे को तेज दर्द हुआ तो वह बगौड़ा, भीनमाल, दिसा, मेहसाणा, उदयपुर के निजी अस्पतालों में इलाज के लिए चक्कर लगाता रहा. इसके बाद इलाज के लिए अहमदाबाद के सिविल अस्पताल गए। इंदर कुमार की शनिवार को इलाज के दौरान मौत हो गई।

जालोर पुलिस ट्वीट: जालोर पुलिस ने ट्वीट करते हुए इस मामले में लिखा है कि इस सिलसिले में आरोपी शिक्षक पर हत्या और एससी/एसटी का आरोप लगाया गया है. एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। इस मामले में सीओ जालूर की जांच जारी है। मौके पर पहुंचे एसपी व सीओ जालौर ने घटना की जानकारी ली। आरोपी को पुलिस हिरासत में ले लिया गया है। साथ ही मामले की त्वरित जांच के लिए मामला अधिकारी योजना के तहत लिया गया है.

सोशल मीडिया पर हो रही कड़ी निंदा: इस पूरे मामले को लेकर देशभर में बीजेपी नेताओं के साथ-साथ दलित नेताओं की ओर से प्रतिक्रियाएं आ रही हैं. सभी ने आजादी की वर्षगांठ और देश की 75वीं वर्षगांठ के बीच जातिगत भेदभाव को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है. साथ ही इस मामले में आरोपी शिक्षक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की जा रही है.

दलित छात्र की मौत

पिटाई से दलित छात्र की मौत

नागौर से सांसद हनुमान बेनीवाल ने ट्वीट किया, ‘एक तरफ देश आजादी के अमृत का जश्न मना रहा है. दूसरी ओर हमारे पश्चिमी राजस्थान के कई हिस्सों में अभी भी सामंतवाद हावी है। जालोर जिले में कक्षा 3 के एक दलित छात्र की एक संकीर्ण मानसिकता वाले शिक्षक द्वारा पीट-पीट कर हत्या इस बात का प्रमाण है। जिले के सुराणा में आज एक दुखद समाचार प्राप्त हुआ है कि तीसरी कक्षा की छात्रा इंदिरा मेघवाल की शिक्षिका द्वारा पानी के घड़े को छूने पर पीटने से मौत हो गयी. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि शिक्षक की तरह पद पर कार्यरत एक संकीर्ण सोच वाले व्यक्ति ने तीसरी कक्षा के एक लड़के को बेरहमी से पीटा कि आखिरकार आज उस लड़के को जान से हाथ धोना पड़ा. इस मामले को लेकर मैंने जालोर के जिला पुलिस अधीक्षक से फोन पर बात की है और दोषियों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं.

बाटू विधायक हरीश चौधरी ने ट्वीट कर लिखा कि जालोर जिले के सुराणा निवासी देवराम मेघवाल के पुत्र इंदर कुमार को एक निजी स्कूल में पीटा गया और उसकी मौत की सूचना मिलने पर सरकार ने कहा कि उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए. अपराधी। जाएगा इस मामले में कोई ढील नहीं दी जाएगी।

पानी के घड़े को छूने की भी आजादी नहीं: भीम आर्मी के चंद्रशेखर आजाद ने ट्वीट किया, ”देश आजादी के अमृत का जश्न मना रहा है.” वहीं, पानी के घड़े को छूने पर उसे इतनी बुरी तरह पीटा गया कि उसकी जान चली गई. आजादी के 75 साल बाद भी जालोर में 9 साल का एक दलित बच्चा जातिवाद का शिकार हो गया। हमें पानी के घड़े को छूने तक की आजादी नहीं है तो हम आजादी के झूठे नारे क्यों लगा रहे हैं।

Check Also

Bungalow-of-Narayan-Rane-at-Juhu-in-Mumbai

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका, गिराए जाएंगे अवैध निर्माण

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है . सुप्रीम कोर्ट ने भी बॉम्बे हाईकोर्ट के फैसले पर …