Covid-19: देश में तेजी से बढ़ रही कोरोना की रफ्तार, सामने आए 2.68 लाख नए केस, इन 5 राज्‍यों में 53% केस

देश में कोरोना संक्रमण (Coronavirus) के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. प‍िछले 24 घंटे में भारत में कोरोना (Covid-19) के 2,68,833 नए मामले सामने आए है. इसके साथ ही सक्रिय केस की संख्या बढ़कर 14,17,820 हो गई है. देश में फिलहाल डेली पॉजिटिविटी रेट (Positivity Rate) बढ़कर 16.66% हो गई है. कल के मुकाबले आज देश में कोरोना के 4,631 ज्‍यादा मामले आए हैं. कल कोरोना के 2,64,202 केस आए थे. देश के पांच राज्‍यों में ही नए कोरोना मामलों के 53 प्रतिशत केस दर्ज किए हैं. इसमें महाराष्‍ट्र का नाम सबसे ऊपर है. महाराष्‍ट्र में प‍िछले कुछ द‍िन से देश में सबसे ज्‍यादा केस आने का सिलसिला जारी है.

शुक्रवार को भी इस राज्‍य में सबसे ज्‍यादा 43,211 केस दर्ज किए गए हैं. इसके बाद कर्नाटक का नंबर आता है, जहां 28,723 नए केस दर्ज क‍िए गए हैं. इसके बाद द‍िल्‍ली में 24,383 नए केस, तम‍िलनाडु में 23,459 नए केस और पश्‍चिम बंगाल में 22,645 नए केस मिले हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि गुरुवार को 1,22,684 मरीजों को ठीक होने के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया.

ओमिक्रॉन की संख्‍या में भी बढ़ोतरी

पिछले 24 घंटों में देश में कोरोना के 402 मरीजों की मौतें हुई हैं, जिससे मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर 4,85,752 हो गई है. देश में अब तक कुल 3,49,47,390 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं. इसके साथ ही भारत में एक्टिव केस का प्रतिशत 3.85 हो गया है, वहीं रिकवरी रेट 94.83 के करीब है. कोरोना के साथ-साथ देश में ओमिक्रॉन के मामले भी बढ़ते जा रहे हैं. अब ओमिक्रॉन की संख्या 6 हजार को पार कर गई है. अब तक देश में ओमिक्रॉन के कुल 6,041 मामले आ चुके हैं.

भारत में कोरोना की तीसरी लहर पर लगाम लगाने के लिए कई तरह के प्रतिबंध लगाए गए हैं. इसके साथ ही टीकाकरण और टेस्टिंग के आंकड़ों पर भी जोर दिया जा रहा है. केंद्र सरकार के मुताबिक, अभी तक देश में वैक्सीन की 156.02 करोड़ खुराक दी जा चुकी है. देश में शुक्रवार को 16 लाख से अधिक टेस्ट किए गए थे.

 

गणतंत्र द‍िवस पर कोरोना का साया

देश की राजधानी दिल्ली में ऐसा दूसरी बार होगा जब गणतंत्र दिवस (Republic Day) कोरोना महामारी (Corona) के साए में मनाया जाएगा. प‍िछली बार की तरह इस साल भी यह समारोह ऐसे समय में होगा जब कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. इस दौरान वहां पर आयोजन के तरीके में कोई बड़ा बदलाव नहीं किया गया है. रक्षा प्रतिष्ठान के सूत्रों ने बताया कि पिछले साल परेड में शामिल होने वाले 25,000 लोगों की तुलना में इस बार 24,000 लोगों को इसे देखने की अनुमति होगी. हालांकि यह आम दर्शकों, गणमान्य व्यक्तियों, सरकारी अधिकारियों, बच्चों, एनसीसी कैडेटों, राजदूतों, सीनियर नौकरशाहों और राजनेताओं के बीच होगी.

Check Also

Punjab Election: आप CM पद की दौड़ में भगवंत मान को टक्कर दे रहे हैं हरपाल सिंह चीमा

नई दिल्लीः आम आदमी पार्टी (आप) अपने मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार आज ऐलान कर देगी। इस …