कोरोना अपडेट: 24 घंटे में सामने आए 9923 नए मामले, 17 की मौत

भारत में Coronavirus Update: दुनियाभर में कोरोनावायरस के संक्रमण से जंग लड़ी जा रही है। भारत में पिछले कुछ दिनों से कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं. देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 9923 मामले सामने आए हैं. हालांकि ये आंकड़े पिछले कुछ दिनों की तुलना में कम हैं। भारत में पिछले 5 दिनों से कोरोना वायरस के मामले बढ़ रहे हैं, लेकिन पिछले 24 घंटों में कोरोना के नए मामलों में कमी आ रही है. पिछले 24 घंटे में 7,293 मरीज ठीक होकर घर लौट चुके हैं। वहीं, इस दौरान 17 मरीजों की मौत हो चुकी है। वहीं, कोरोना के 79,313 एक्टिव केस हैं। 

मुंबई
में प्रकोप तेज होता दिख रहा है।महाराष्ट्र में सोमवार को कोरोना के 2,345 नए मामले सामने आए और दो संक्रमण सामने आए। इनमें से 1310 मामले अकेले मुंबई से आए। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, राज्य में अब तक कोरोना के कुल मामलों की संख्या 79,38,103 हो गई है, जबकि इस महामारी से अब तक 1,47,888 लोगों की मौत हो चुकी है। 

देशभर
में सोमवार को कोरोना के कुल 12781 नए मामले सामने आए । इसके साथ कुल मामलों की संख्या बढ़कर 4,33,09,473 हो गई, जबकि 130 दिनों के बाद दैनिक संक्रमण दर चार प्रतिशत को पार कर गई है। आंकड़ों के अनुसार, 18 और मौतों के बाद मरने वालों की संख्या बढ़कर 5,24,873 हो गई। कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 76,700 हो गई है। 

उधर, गुजरात में आज कोरोना के 217 नए मामले सामने आए हैं। वहीं, 130 मरीज ठीक हो चुके हैं। अब तक कुल 12,15,453 मरीजों को कोरोनरी हृदय रोग हो चुका है। वहीं, कोरोना का रिकवरी रेट भी घटकर 98.99 फीसदी पर आ गया है। दूसरी ओर सरकार टीकाकरण के मोर्चे पर भी सख्ती से लड़ रही है। राज्य में आज कुल 45,769 टीके की खुराक दी गई।

एक्टिव केस की बात करें तो राज्य में कुल 1461 एक्टिव केस हैं। जिनमें से 05 नागरिक वेंटिलेटर पर हैं और उनकी हालत अपेक्षाकृत चिंताजनक है। इसके अलावा 1456 नागरिक स्थिर हैं। अब तक कोरोना कुल 12,15,453 नागरिकों को खो चुका है। वहीं अब तक 10,946 नागरिकों की कोरोना से मौत हो चुकी है। हालांकि आंशिक राहत की खबर यह कही जा सकती है कि आज कोरोना से एक भी व्यक्ति की मौत नहीं हुई है. 

Check Also

उद्धव ठाकरे: एकनाथ शिंदे का विद्रोह सफल रहा, उन्हें मंत्री पद मिलेंगे लेकिन सम्मान? इसे कैसे प्राप्त करें? 6 कोण

उद्धव ठाकरे को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था । उसका मुख्य कारण एकनाथ शिंदे का विद्रोह …