केंद्र से भेजी गई आपदा की राशि में भी कांग्रेस सरकार ने किया भ्रष्टाचार : जेपी नड्डा

धर्मशाला, 03 फरवरी (हि.स.)। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर जमकर हमला बोला। नड्डा ने प्रदेश सरकार पर केंद्र सरकार द्वारा आपदा राहत के भेजे गए पैसे में भ्रष्टाचार का बड़ा आरोप जड़ा। उन्होंने कहा कि हिमाचल में आई आपदा को लेकर केंद्र ने कुल 1782 करोड़ रुपये की राहत राशि जारी की, जिसमें भी कांग्रेस सरकार ने भ्रष्टाचार कर अपने लोगों को रेवाड़ियां बांटी।

शनिवार को धर्मशाला के जोरावर स्टेडियम में भाजपा अध्यक्ष नड्डा के लिए अभिनंदन समारोह रखा गया। इस दौरान भाजपा अध्यक्ष ने कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए कहा कि लोकसभा चुनाव नजदीक है इसलिए अभी से हर कार्यकर्ता को जुट जाना चाहिए, जिससे प्रदेश की चारों सीटों पर कमल खिल सके। नड्डा ने अभिनंदन समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि मौजूदा समय में कांग्रेस की झूठी गारंटियों से प्रदेश की जनता त्रस्त है। इसीलिए हर कार्यकर्ता को कांग्रेस की नाकामियां और केंद्र सरकार की उपलब्धियां घर-घर तक पहुंचाने की जरूरत है ताकि आने वाले लोकसभा चुनाव में भाजपा प्रदेश की चारों सीटों पर प्रचंड वोटिंग के साथ जीत हासिल कर सके और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक बार फिर से देश का नेतृत्व करें।

कांग्रेस पर बरसते हुए नड्डा ने कहा कि भाजपा और कांग्रेस में इतना अंतर है कि कांग्रेस को स्कैम के नाम से जाना जाता है जबकि भाजपा को सक्सेस के नाम से जाना जा रहा है। आज विश्व में भारत और प्रधानमंत्री मोदी की हर बात को सजगता के साथ सुना जाता है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी अगले तीन सालों में देश को तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था के पायदान पर पहुंचा देंगे।

केंद्र की ओर से प्रदेश को आपदा में दी गई सहायता को गिनाते हुए जेपी नड्डा ने कहा कि केंद्र ने हिमाचल को 1782 करोड़ रुपये की राहत राशि आपदा के दौरान दी है, लेकिन हिमाचल कांग्रेस ने उसमें भी भ्रष्टाचार किया, घोटाला किया और केंद्र द्वारा जारी पैसे को अपने कार्यकर्ताओं में बांट दिया। उन्होंने कहा कि हिमाचल की कांग्रेस सरकार बैक गियर सरकार है जिसने प्रदेश में खोले गए करीब 620 सरकारी कार्यों को बंद कर दिया।

नड्डा ने कांग्रेस की न्याय यात्रा को भारत तोड़ो न्याय यात्रा करार देते हुए कहा कि राहुल गांधी भारत जोड़ा न्याय यात्रा पर निकले हैं, लेकिन ये अन्याय यात्रा है। तीन दिन पहले कांग्रेस सांसद डीके सुरेश ने कहा कि जीएसटी का पैसा दक्षिण भारत ज्यादा देता है, लेकिन उत्तर भारत पर ज्यादा खर्च होता है। ये हमारे लिए अन्याय है। वो भूल जाते हैं कि भारत एक है। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में वो अलग देश की मांग करेंगे। कांग्रेस पार्टी में कोई इस पर एक शब्द बोलने को तैयार नहीं है।