राजस्थान उपचुनाव के रंग:राजसमंद में किरण की राह पर दीप्ति, सहाड़ा में पितलिया की कोरोना रिपोर्ट का इंतजार और सुजानगढ़ में दोनों दलों का पैदल प्रचार

 

राजसमंद में तलवार लहराती भाजपा प्रत्याशी दीप्ति माहेश्वरी, साथ में सांसद दीया कुमारी। - Dainik Bhaskar

राजसमंद में तलवार लहराती भाजपा प्रत्याशी दीप्ति माहेश्वरी, साथ में सांसद दीया कुमारी।

राजस्थान की तीन विधानसभा सीटों पर माहौल पूरी तरह चुनावी रंग में बदल चुका है। आगामी 17 अप्रैल को राजसमंद, सहाड़ा और सुजानगढ़ में उपचुनाव के लिए मतदान होगा। इससे पहले जोर-शोर से जुटी भाजपा और कांग्रेस तथा बीच में कूदी आरएलपी से चुनाव प्रचार बेहद रोचक होता जा रहा है।

तीनों सीटों में सबसे ज्यादा चर्चा सहाड़ा विधानसभा सीट को लेकर है, जहां भाजपा से बागी होकर पर्चा भरने वाले लादूलाल पितलिया की चर्चा ही सबसे बड़ा मुद्दा है। वहीं, राजसमंद में दिवंगत विधायक किरण माहेश्वरी की तरह ही उनकी बेटी का महिलाओं के बीच उठना-बैठना भी लोगों को पसंद आ रहा है। दूसरी ओर सुजानगढ़ में तीनों दलों के प्रत्याशी ग्रुरुवार को ग्रामीण क्षेत्र में पैदल मार्च में जुटे हैं।

सहाड़ा में सिर्फ एक ही मुद्दा- पितलिया
भीलवाड़ा के सहाड़ा विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव में सारे मुद्दे गौण हो गए बताते हैं। यहां अब सिर्फ एक ही मुद्दा सबसे बड़ा हो गया है और वह है पितलिया। अब उनका कौन सा ऑडियो आने वाला है? उनके कोरोना की रिपोर्ट निगेटिव आएगी या पॉजिटिव? वे होम क्वारंटीन में हैं तो बाहर कब आएंगे? आदि-आदि। हर कोई अब सिर्फ इसी की चर्चा कर रहा है। अब चूंकि मेडिकल डिपार्टमेंट ने बाहर से आने का कारण बताते हुए पितलिया को होम क्वारंटीन का नोटिस दिया है, इसलिए पितलिया क्वारंटीन में हैं।

अब उनकी कोरोना जांच रिपोर्ट का लोग इंतजार कर रहे हैं। कब रिपोर्ट निगेटिव आए और कब पितलिया घर से बाहर। यानी भाजपा और कांग्रेस के प्रचार से ज्यादा पितलिया की एक्टिविटी पर सबकी नजर है। वैसे गुरुवार को आरएलपी प्रमुख व सांसद हनुमान बेनीवाल की सभा हो रही है। वहीं भाजपा व कांग्रेस के प्रत्याशी घर-घर प्रचार में जुटे हैं। सहाड़ा से भाजपा के रतनलाल जाट और कांग्रेस की गायत्री देवी त्रिवेदी चुनाव लड़ रही हैं।

गुरुवार को ही भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने सहाड़ा में अखिल मेवाड़ जाट महासभा के स्व. भैरूलाल जाट को श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद गंगापुर में सहाडा विधानसभा क्षेत्र के बूथ शक्ति केंद्र प्रमुखों सहित प्रमुख कार्यकर्ताओं को मोटिवेट किया।

पेड़ की छांव में बैठ जाती हैं दीप्ति
राजसमंद के चुनाव प्रचार में प्रत्याशियों ने रोचक तरीके अपनाए हुए हैं। चार-पांच दिन पहले भाजपा की दीप्ति माहेश्वरी एक गांव में पानी की मटकी उठाकर महिला के सिर पर रखते का फोटाे काफी चर्चा में रहा था, वहीं कांग्रेस के प्रत्याशी तनसुख बोहरा का दूल्हा बन बिंदोरी निकालने का वीडियो भी रोचक था। राजसमंद के लोगों को दीप्ति माहेश्वरी का किरण माहेश्वरी अंदाज बेहद पसंद आ रहा है। किरण माहेश्वरी अभी तक विधायक थीं, लेकिन उनके निधन के बाद यह सीट खाली हो गई। दीप्ति किरण माहेश्वरी की ही बेटी हैं। दीप्ति अपनी मां की तरह महिलाओं के बीच उठ-बैठ रही हैं। कभी पेड़ की छांव में बैठ जाती हैं तो कभी महिलाओं के खेतों और कुएं पर पानी भरने के दौरान उनके पास पहुंचती हैं। घुल-मिल कर कुछ लंबी बातें भी करती हैं। उनके हाल-चाल और घरेलू बातें भीं। इससे महिलाएं उन्हें पसंद कर रही हैं।

राजसमंद में चुनाव प्रचार के लिए बने वॉर रूप में रणनीति के बीच सांसद दीया कुमारी।

राजसमंद में चुनाव प्रचार के लिए बने वॉर रूप में रणनीति के बीच सांसद दीया कुमारी।

भाजपा सांसद दीया कुमारी दीप्ति को जिताने के लिए बहू और बहन के रूप में लोगों के बीच जा रही हैं। वे पूरी तरह इसे अपनी ही लड़ाई के रूप में ले रही हैं। दीया के अलावा पूर्व मंत्री वासुदेव देवनानी, पूर्व सांसद पुष्प जैन ने बाहरी तो रवि नैयर, अमित गोयल आदि ने अंदरूनी कमान संभाल रखी है। दूसरी ओर तनसुख बोहरा कांग्रेस के टिकट पर चुनाव प्रचार पर निकले हुए हैं। वे कई तरह के अलग-अलग रूप में लोगों को अपने पक्ष में वोट करने की अपील कर रहे हैं। उनके प्रचार के तरीके भी लोगों को पसंद आ रहे हैं। वे प्रचार के दौरान भी खासे खुश-मिजाजी नजर आते हैं।

सुजानगढ़ में कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष की सभा में सामूहिक स्वागत।

सुजानगढ़ में कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष की सभा में सामूहिक स्वागत।

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष ने बनाई सुजानगढ़ को प्रतिष्ठा की सीट

सुजानगढ़ में गुरुवार को चुनाव प्रचार में दोनों ही दल घर-घर चुनाव प्रचार में जुट गए हैं। इस सीट को कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद डोटासरा ने अपने लिए प्रतिष्ठा का बना लिया है। गुरुवार को भी वे तीन-चार छोटी-छोटी सभाओं के माध्यम से लोगों से कांग्रेस को वोट करने की अपील करते रहे। यहां से कांग्रेस ने मनोज मेघवाल को और भाजपा ने खेमाराम मेघवाल को प्रत्याशी बनाया है। दोनों ही प्रत्याशी घर-घर मार्च में जुटे हैं। पूर्व में यहां से कांग्रेस के भंवरलाल मेघवाल विधायक थे, जिनके निधन के बाद उनके बेटे मनोज को टिकट दिया गया है। गुरुवार को डोटासरा ने गोपालपुरा गांव में सभा से अपने दौरे की शुरुआत की थी, जिसमें करीब दो हजार लोग शामिल हुए। भाजपा की ओर से पूर्व मेंत्री राजेंद्र राठौड़, रामसिंह कस्वां, केंद्रीय मंत्री अर्जुनलाल मेघवाल भी डटे हैं।

सुजानगढ़ उपचुनाव की एक चुनावी सभा में पहुंचीं महिलाएं।

सुजानगढ़ उपचुनाव की एक चुनावी सभा में पहुंचीं महिलाएं।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

हवाई सफर पर कोरोना का साया:अहमदाबाद, चंडीगढ़, गोवा, अमृतसर और मुंबई जाने वाली 8 उड़ानें रद्द, यात्रीभार कम आने के कारण एयरलाइंस कंपनियों ने नहीं किया संचालन

जयपुर एयरपोर्ट पर इन दिनों 41 में से सिर्फ 28 उड़ानें ही संचालित हो रही …