CM नीतीश पर आक्रामक, केंद्र पर नरम दिखे चिराग:दिल्ली से पटना पहुंचे चिराग, कहा- नीतीश कुमार ने आखिरी बार बिहार के बारे में कब सोचा था, ये उन्हें भी पता नहीं

 

पटना एयरपोर्ट पर चिराग पासवान। - Dainik Bhaskar

पटना एयरपोर्ट पर चिराग पासवान।

देश में चल रहे फोन टैपिंग और महंगाई के मामले का असर अब बिहार की राजनीति में भी देखने को मिल रहा है। गुरुवार को दिल्ली से पटना पहुंचे लोक जनशक्ति पार्टी नेता चिराग पासवान ने भी इन सभी मुद्दों पर अपनी प्रतिक्रिया दी। केंद्र सरकार पर नरम रुख रखते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर ज्यादा आक्रामक दिखे।

पेट्रोल डीजल के बढ़ते दामों पर मुख्यमंत्री को कोई जानकारी नहीं होने वाले बयान पर चिराग ने नीतीश सरकार पर जमकर निशाना साधा। चिराग पासवान ने कहा कि इस घटना से आप मुख्यमंत्री की सक्रियता का अंदाजा लगा सकता है। मैं यह मानता हूं कि हमारे मुख्यमंत्री पूरी तरह से बिहार और बिहारियों की हालात से वाकिफ नहीं है। बिहार के लोग किस परिस्थिति से गुजर रहे यह मुख्यमंत्री को पता नहीं है। मुख्यमंत्री को तो बाढ़ के बारे में भी पूरी जानकारी नहीं है। वह सिर्फ हवाई यात्रा ही करते हैं।

चिराग पासवान ने तंज कसते हुए कहा कि मुख्यमंत्री जी! एक बार सड़क मार्ग से भ्रमण के लिए तो निकलिए, तब आपको सही जानकारी मिल पाएगी। जो हाईवे आपने बनाया है उनके किनारे रह रहे लोग, जो हर साल बेघर होते हैं उनकी स्थिति को भी जानने की कोशिश कीजिए।

साथ ही उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सिर्फ अपने टूरिज्म पर ध्यान दे रहे हैं। नीतीश कुमार ने आखिरी बार बिहार के बारे में कब सोचा था, यह उन्हें भी पता नहीं होगा। अगले साल भी अगर वह मुख्यमंत्री रहे तो इसी तरह से सिर्फ हवाई यात्रा ही करेंगे।

बुधवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बढ़ते पेट्रोल की कीमतों पर कहा था कि मुझे इसकी कोई जानकारी नहीं है।

जासूसी प्रकरण पर गोलमोल जवाब

केंद्र सरकार पर लग रहे फोन टैपिंग के आरोप पर कहा कि अगर यह सही है तो गलत है। मगर, अगर कोई सरकार को बदनाम करने की साजिश कर रहा है तो यह बात सही नहीं हैं। वहीं ऑक्सीजन की किल्लत से एक भी मौत नहीं होने वाले स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के बयान पर चिराग ने कहा कि यह बात पूर्ण रूप से गलत है। आप सभी जानते हैं कि दिल्ली, बिहार समेत कई अन्य राज्यों में ऑक्सीजन की कमी से मौत हुई है।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

अंतरराष्ट्रीय बाघ दिवस के दिन VTR में हंगामा:वन कर्मियों ने वर्दी उतार अधिकारियों के सामने फेंका, 5 माह से वेतन नहीं, निकालने की धमकी मिलती है; 48 हो गई बाघों की संख्या

  वर्चुअल मीटिंग के दौरान संविदा आधारित टाइगर केयर टेकर व वन कर्मियों ने जमकर …