CM योगी ने की मंत्रिपरिषद की अहम बैठक, 2022 के विधानसभा चुनाव को लेकर रणनीति पर हुई चर्चा

 

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज लखनऊ में दो अहम बैठकें की. पहले जहां उन्होंने कैबिनेट बैठक की तो वहीं कैबिनेट बैठक के बाद अपने मंत्रिपरिषद के सदस्यों के साथ भी एक मीटिंग की. कैबिनेट में जहां आज 9 प्रस्तावों पर मुहर लगी तो वहीं मंत्रिपरिषद की बैठक में 2022 के विधानसभा चुनाव को लेकर रणनीति पर चर्चा हुई. साथ ही जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव पर चर्चा हुई. सभी मंत्रियों को जिलों में अलग-अलग ब्लॉक पर प्रवास के लिए भी कहा गया है.

लंबे समय बाद लोक भवन में इस तरह की चहल पहल देखने को मिली. कोरोना की दूसरी लहर में जब सब गतिविधियां ठप पड़ गई थी तो सरकारी बैठकें भी ज्यादातर वर्चुअल तरीके से ही हो रही थी. लेकिन आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कैबिनेट बैठक में सभी को लोकभवन बुलाया था. बैठक दोपहर 12 बजे बैठक रखी गई थी और उससे पहले ही लोक भवन में मंत्रियों के आने का सिलसिला शुरू हो गया था. कैबिनेट की बैठक तकरीबन 40 मिनट तक चली इस बैठक में कुल 9 प्रस्ताव पास हुए. जिनमें खनन, खाद्य रसद, परिवहन, नगर विकास और पीडब्ल्यूडी से जुड़े मुद्दे शामिल थे. कैबिनेट ने अयोध्या में अंतरराष्ट्रीय स्तर के बस अड्डे को बनाए जाने के लिए भूमि हस्तांतरण के प्रस्ताव को मंजूरी दी, वहीं प्रयागराज में एक आरओबी बनाए जाने के प्रस्ताव को और लखनऊ में हैदर कैनाल पर एसटीपी निर्माण को भी आज कैबिनेट की मंजूरी दी.

हाल ही में बीजेपी की तमाम बैठकें जो लखनऊ से लेकर दिल्ली तक हुई उसमें भी 2022 के विधानसभा चुनाव पर फोकस किया गया था और आज मंत्रिपरिषद के साथ हुई बैठक में मुख्यमंत्री ने भी मन्त्रियों को ‘सम्पर्क और संवाद’ के ध्येय पर काम करने के निर्देश दिए. अब मंत्रियों को अलग-अलग जिलों में ब्लॉक स्तर पर प्रवास करने के निर्देश विकास की कार्ययोजनाओं के साथ CHC, PHC का निरीक्षण करने का काम, 21 जून को योग दिवस के दिन विशेष कार्यक्रम में शामिल होना शामिल है.

बीजेपी ने 2022 के विधानसभा चुनाव की तैयारी शुरू कर दी है

सभी मंत्रियों को 23 जून से 6 जुलाई तक इन कार्यक्रमों में शामिल होना है और 27 जून को सभी को ब्लॉक और ग्राम पंचायत स्तर पर मन की बात कार्यक्रम को सुनने के लिए कहा गया है. मंत्रिपरिषद की बैठक में जल्द होने वाले जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में पार्टी को कैसे ज्यादा से ज्यादा सीटें मिलें इस पर भी चर्चा हुई. साथ ही सभी को कहा गया है कि इन चुनाव में भी सभी की सक्रियता जरूरी है.

बीजेपी ने 2022 के विधानसभा चुनाव की तैयारी शुरू कर दी है और ऐसे में पार्टी की कोशिश है की अब संगठन के साथ बेहतर तालमेल के अलावा विकास के अधूरे कामों को भी पूरा करने पर है. यही वजह है कि अब मंत्रियों को भी ब्लॉक स्तर तक प्रवास करने को कहा गया है. जिससे सरकारी अधूरी परियोजनाओं के काम में तेजी लाई जा सके.

Check Also

17 अगस्त से शुरू होगा यूपी विधानसभा का मानसून सत्र, कोरोना प्रोटोकॉल का किया जाएगा पालन

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा का मानसून सत्र 17 अगस्त से शुरू होगा. विधानसभा सत्र में …