झारखंड: फर्जी भर्ती के खिलाफ कार्रवाई करने पहुंचे पुलिसकर्मियों और लोगों के बीच झड़प, 17 लोग गिरफ्तार

पश्चिमी सिंहभूम जिले के लादुराबासा गांव में रविवार को फर्जी भर्ती के खिलाफ कार्रवाई करने पहुंचे पुलिसकर्मियों और स्थानीय लोगों के बीच झड़प हो गई। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि हिंसक भीड़ को काबू में करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले दागे। झड़प में छह पुलिसकर्मियों समेत कई लोग घायल हो गए।

पश्चिमी सिंहभूम के पुलिस अधीक्षक अजय लिंडा ने बताया कि मामले में अब तक कुल 17 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। अधिकारियों ने बताया कि कुरसी पंचायत के ग्राम लादुराबासा स्कूल में ‘चाईबासा कोल्हान गवर्मेंट स्टेट’ के नाम पर फर्जी बहाली का एक दिवसीय प्रशिक्षण-सह-शैक्षणिक प्रमाण पत्र सत्यापन शिविर के आयोज​न की सूचना मिली थी।

 

इसके बाद अनुमंडल पदाधिकारी (सदर) एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी (सदर) पर्याप्त पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। फर्जी भर्ती का विज्ञापन चंपाई चंद्रशेखर डांगी नाक के एक व्यक्ति ने जारी किया था। पुलिस ने फर्जी भर्ती घोटाले से संबंधित एक रजिस्टर, प्रिंटर, मॉनिटर, लैपटॉप और दस्तावेज जब्त कर कुछ लोगों को हिरासत में लिया। बाद में दोपहर में पारंपरिक हथियारों से लैस 200 ग्रामीणों के एक समूह ने पुलिस हिरासत में रखे गए लोगों की बिना शर्त रिहाई की मांग करते हुए थाने का घेराव किया।

भीड़ ने पुलिस थाने पर भी पथराव शुरू कर दिया, जिसके बाद पुलिसकर्मियों को भीड़ को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा और आंसू गैस के गोले दागने पड़े। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि घायलों को चाईबासा के सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

Check Also

चुनाव कराने के लिए डिस्पैच सेंटर से सेक्टर दंडाधिकारी और मतदान पदाधिकारी रवाना

रामगढ़, 26 मई (हि.स.)। मांडू प्रखंड में चुनाव कराने के लिए गुरुवार को जिला परिषद …