Chittorgarh: कोरोना के बीच खाद आपूर्ति की कमी ने बढा़ई परेशानी, गाइड लाइन की अवहेलना

Chittorgarh: चित्तौड़गढ़ सहित राज्य में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण ने एक तरफ तो प्रशासन की नींद उड़ा रखी है, वहीं आमजन भी भयभीत हैं.

प्रशासन द्वारा कोरोना संक्रमण को रोकने के उद्देश्य से कई तरह के प्रयास किए जा रहे हैं लेकिन इन सभी प्रयासों पर खाद लेने का प्रयास पानी फेरता दिखाई दे रहा है.

 

 

प्राप्त जानकारी के अनुसार, इन दिनों खेतों में रबी की फसल खड़ी हुई है. किसानों को गेहूं, चना, सरसों आदि की फसलों में डालने के लिए यूरिया खाद की आवश्यकता है परंतु आपूर्ति में कमी के कारण किसानों को पर्याप्त मात्रा में खाद नहीं मिल रही है, जिसके चलते खाद की दुकानों पर सैकड़ों किसानों की लाइन लगी हुई है और इस भीड़ के कारण कोरोना गाइड लाइन की सरेआम अवहेलना हो रही है.

एक ही दुकान पर बिना मास्क लगाए खड़े सैकड़ों किसानों के कारण कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका बनी हुई है. इधर किसानों का कहना है कि यदि सरकार निशुल्क मास्क वितरण करें तो ही वह मास्क लगाएंगे. जानलेवा कोरोना संक्रमण से लापरवाह खाद के लिए कतारों में लगे किसान जहां एक और प्रशासन की लाखों रुपये खर्च कर चलाई जा रही टीकाकरण और अन्य योजनाओं पर पानी फेर रहे हैं, वहीं अपनी और अपने परिवार की जान से भी खिलवाड़ कर रहे हैं.

विधायक चंद्रभान सिंह आक्या ने सीएम को लिखा पत्र
प्रशासन को खाद वितरण व्यवस्था को सुधारने के लिए तुरंत प्रभाव से कारगर कदम उठाने चाहिए. वहीं विधायक चंद्रभान सिंह आक्या ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर यूरिया खाद प्राप्त होने में किसानों को आ रही परेशानियों से अवगत करा उनके निराकरण की मांग की.

मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में विधायक चंद्रभान सिंह आक्या ने बताया कि इफको कंपनी द्वारा सहकारी समितियों को यूरिया खाद की सप्लाई न करते हुए निजी व्यवसाय को खाद उपलब्ध कराया जा रहा है, जिससे व्यापारियों की मनमानी वह मुनाफाखोरी की शिकायतें सामने आ रही है. व्यापारियों द्वारा किसानों को खाद के साथ ही अन्य कृषि सामग्री खरीदने का भी दबाव बनाने की शिकायतें मिल रही हैं. विधायक ने मुख्यमंत्री से तत्काल प्रभाव से किसानों को पर्याप्त मात्रा में यूरिया खाद उपलब्ध करवाए जाने की मांग की है.

Check Also

दो दिन रहेगा अमावस्या योग, 27 को करें नामांकन मिलेगी जीत

हरिद्वार, 25 जनवरी (हि.स.)। भारतीय प्राच्य विद्या सोसाइटी के पं. प्रतीक मिश्रपुरी ने बताया कि …