लंदन/नई दिल्ली : ब्रिटिश खुफिया एजेंसी एमआई-5 ने ब्रिटिश संसद को आपातकालीन चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि, ब्रिटिन में पिछले कई सालों से क्रिस्टीन ली नाम की एक चायनीज जासूस एक्टिव है, जिसने ब्रिटेन की राजनीतिक पार्टियों और नेताओं को करोड़ों रुपये ‘चंदा’ दिए हैं और चायनीज जासूस ब्रिटिश नेताओं को करप्ट कर रही है। ब्रिटिश खुफिया एजेंसी के खुलासे के बाद पूरी दुनिया में सनसनी फैल गई है। वहीं, खुलासा हुआ है कि, चीन की सरकार ने दुनियाभर के भ्रष्ट नेताओं को खरीदने के लिए खरबों रुपये खर्च किए हैं, जिसके बाद सवाल उठ रहे हैं, कि क्या भारत में भी चीन के जासूस एक्टिव हैं?

क्या भारतीय नेताओं को भी चीन के जासूसों ने ‘चंदा’ दिया है और क्या भारत में चीन के जासूस हैं या नहीं, इसको लेकर जांच होगी? 5 महीने के बच्चे को तुरंत जरूरत है ओपन हार्ट सर्जरी की, मदद करें ब्रिटिश सांसद को दिया चंदा ब्रिटिश सांसद को दिया चंदा ब्रिटिश खुफिया एजेंसी एमआई-5 ने खुलासा किया है कि, चीन की कम्युनिस्ट पार्टी की जासूस क्रिस्टीन ली ने ब्रिटेन की लेबर पार्टी के वरिष्ठ सांसद बैरी गार्डिनर को 5 लाख पाउंड से ज्यादा का दान दिया है, जो चीन की सरकार का ‘पार्सल’ था।

खुलासा हुआ है कि, चीन खबरों रुपये पृथ्वी पर मौजूद दुनियाभर के कई नेताओं को अलग अलग तरहों से खरीदने के लिए खर्च कर रहा है और चीन में नेताओं को खरीदने के लिए बकायदा प्लान बनाए गये हैं। ब्रिटिश खुफिया एजेंसी ने कहा है कि, ब्रिटिश राजनीति को किसी भी वक्त प्रभावित करने के लिए चीन की तरफ से प्लानिंग की गई थी और भ्रष्ट हो चुके ब्रिटिश सांसद ऐसी स्थिति में चीन के ‘प्रवक्ता’ बन सकते थे या ऐसे ब्रिटिश सांसद चीन की सत्तावादी कम्युनिस्ट पार्टी के लिए ब्रिटेन में अनुकूल परिस्थितियों का निर्माण कर सकते थे।