जनहित के लिए काम करें मुख्यमंत्री चम्पाई सोरेन : बाबूलाल मरांडी

रांची, 2 फरवरी (हि.स.)। भाजपा प्रदेश कार्यालय में शुक्रवार को विधायक दल की बैठक प्रदेश अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी की अध्यक्षता में हुई। मरांडी ने नव नियुक्त मुख्यमंत्री चम्पाई सोरेन को बधाई देते हुए कहा कि यह सरकार जनहित में निर्णय लेते हुए जनता की भलाई के लिए काम करे।

हेमंत सरकार की प्रति छाया नहीं बने चम्पाई सरकार :अमर बाउरी

बैठक के बाद मीडिया ब्रीफिंग करते हुए नेता प्रतिपक्ष अमर कुमार बाउरी ने झारखंड के नव नियुक्त मुख्यमंत्री चंपई सोरेन को बधाई दी और कहा कि चम्पाई सोरेन के घर-परिवार ने आज उत्सव का माहौल है। यह अवसर उन्हें राज्य में व्याप्त सत्ता संपोषित भ्रष्टाचार के खिलाफ भाजपा द्वारा सदन से सड़क तक की लड़ाई और राज्य की जनता का भ्रष्टाचार के भाजपा की लड़ाई में मिले समर्थन के कारण प्राप्त हुआ है।

उन्होंने कहा कि परिवारवाद के खिलाफ भाजपा की लड़ाई ने उन्हें यह अवसर दिया है कि वे राज्य के सर्वोच्च पद पर बैठ पाए हैं। बाउरी ने कहा कि उन्हें इस अवसर का उपयोग राज्य की जनता की सेवा के लिए करना चाहिए। उन्होंने कहा कि चम्पाई सोरेन सरकार को हेमंत सरकार की प्रति छाया नहीं बननी चाहिए।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री चम्पाई सोरेन को अविलंब ईडी द्वारा भेजे गए भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश देना चाहिए। हाल ही में रद्द जेएसएससी की रद्द परीक्षा की सीबीआई जांच की अनुशंसा करनी चाहिए, तभी राज्य की जनता को भरोसा होगा कि यह सरकार भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ने वाली सरकार है। उन्होंने कहा कि यह सरकार पिछलग्गू नहीं बने, बल्कि अपनी स्वतंत्र पहचान बनाए।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के समर्थन से चलने वाली सरकारों के मुख्यमंत्री का वही हश्र हुआ है जो हेमंत सोरेन का हुआ। इसलिए चम्पाई सोरेन को इससे सतर्क रहना चाहिए। ये आंदोलनकारी रहे हैं। इसलिए उन्हें अपनी सोच समझ से काम करना चाहिए। उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है यह सरकार पिछली सरकार की तरह ही तुष्टिकरण के एजेंडे को लागू करने के लिए बनी है।

बैठक में विधायक नीलकंठ सिंह मुंडा,सीपी सिंह, बिरंची नारायण,भानु प्रताप शाही,रामचंद्र चंद्रवंशी, जेपी पटेल, राज सिन्हा, मनीष जायसवाल, अमित मंडल, शशिभूषण मेहता, केदार हाजरा, अनंत ओझा, ढुल्लू महतो, रणधीर सिंह, नीरा यादव, अपर्णा सेन गुप्ता, पुष्पा देवी, किशुन दास, केदार हाजरा, समरी लाल, कोचे मुंडा,आलोक चौरसिया, नारायण दास उपस्थित थे।