Chandra Grahan 2020: 5 जुलाई को लग रहा है साल का तीसरा चंद्र ग्रहण, क्या भारत में देख सकेंगे लोग?

Chandra Grahan 2020: इस साल का तीसरा चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse 2020) 5 जुलाई को लगेगा। साल का पहला चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan) जनवरी में लगा था, फिर 5 जून को साल का दूसरा चंद्र ग्रहण लगा था। अब एक ही साल में यह तीसरा ग्रहण पांच जुलाई को लगने जा रहा है। 5 जूलाई को लगने वाला ग्रहण आषाढ़ पूर्णिमा को लग रहा है यानी यह ग्रहण गुरु पूर्णिमा(Guru Purnima 2020) के दिन लग रहा है।

5 जुलाई को लगने वाला ग्रहण कैसा होगा?

5 जुलाई को लगने वाला चंद्र ग्रहण उपछाया चंद्र (Penumbra Lunar Eclipse) ग्रहण होगा। ऐसा तब होता है जब पृथ्वी, सूरज और चांद के बीच तो आती है लेकिन तीनों एक ही रेखा में नहीं होते हैं। ऐसे में चांद की छोटी सी सतह पर अंब्र नहीं पड़ता है। पृथ्वी के बीच के हिस्से से पड़ने वाली छाया को अंब्र (Umbra) कहा जाता है। चांद के बाकी के हिस्सों पर पृथ्वी के बाहरी हिस्से की छाया पड़ती है, जिसे पिनंब्र (Penumbra) या उपछाया कहते हैं। इस वजह से ही इस तरह के ग्रहण कों उपछाया ग्रहण कहा जाता है।

चंद्र ग्रहण का समय

उपछाया चंद्र ग्रहण 5 जुलाई 2020 को सुबह 8 बजकर 37 मिनट पर शुरू होगा। इसके बाद यह 9 बजकर 59 मिनट पर अपने सबसे अधिक प्रभाव में होगा और सुबह 11 बजकर 22 मिनट पर खत्म हो जाएगा। यह ग्रहण लगभग दो घंटे 43 मिनट और 24 सेकेंड तक रहेगा।

क्या भारत में दिखेगा चंद्र ग्रहण?

चंद्र ग्रहण भारत में 5 जुलाई को सूर्योदय के बाद लगेगा। ऐसे में भारतवासी ग्रहण नहीं देख सकेंगे। इस वजह से 5 जुलाई को लगने वाला ग्रहण में सूतक काल भी नहीं लगेगा। साथ ही लोग बिना किसी परेशान के गुरु पूर्णिमा की पूजा कर सकेंगे। 5 जुलाई को लगने वाला ग्रहण अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, पैसिफिक और अंटार्टिका में दिखाई देगा। यह ग्रहण लगभग 2 घंटे 45 मिनट तक रहेगा।

Check Also

गोगा नवमी पर नाग देवता की पूजा अर्चना: सर्पदंश के भय से मिलती है मुक्ति

जोधपुर : गांवों- शहरों में खासकर बारिश के मौसम में प्राय: सांप के काटने की …