झारखंड में चैंपियन सरकार ने जीता विश्वास मत, पक्ष में पड़े 47 और विपक्ष में पड़े 29 वोट

झारखंड फ्लोर टेस्ट:  झारखंड में झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) के नेतृत्व वाली चंपई सोरेन सरकार अग्निपरीक्षा में पास हो गई है. नए मुख्यमंत्री चंपई सोरेन ने विश्वास मत जीत लिया है. महत्वपूर्ण बात यह है कि पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और झारखंड मुक्ति मोर्चा (JAM) के नेतृत्व वाले सत्तारूढ़ गठबंधन के सभी विधायक फ्लोर टेस्ट में भाग लेने के लिए उपस्थित थे।

चंपई सोरेन की सरकार फ्लोर टेस्ट में पास हो गई

झारखंड में चैंपैन सरकार ने विश्वास मत जीत लिया है. झारखंड विधानसभा में विश्वास प्रस्ताव पारित हो गया है. विश्वास मत के पक्ष में 47 और विपक्ष में 29 वोट पड़े.

 

 

31 जनवरी का काला दिन लोकतंत्र से अलग तरीके से जुड़ता है: हेमंत सोरेन

झारखंड की चंपई सोरेन सरकार के फ्लोर टेस्ट में पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा, ’31 जनवरी के काले दिन ने देश के लोकतंत्र पर अलग तरह से असर डाला है. जहां तक ​​मेरी जानकारी है, उस दिन देश में पहली बार किसी मुख्यमंत्री को गिरफ्तार किया गया था. मुझे लगता है कि इस घटना को अंजाम देने में कहीं न कहीं राजभवन भी शामिल है. जिस तरह से यह सब हुआ उससे मैं आश्चर्यचकित हूं।’

 

हमने अभी हार नहीं मानी है: हेमंत सोरेन

झारखंड के पूर्व सीएम और जेएमएम नेता हेमंत सोरेन ने कहा, ‘हमने अभी हार नहीं मानी है. अगर उन्हें लगता है कि मुझे सलाखों के पीछे डाल कर वे सफल हो जायेंगे, तो यह वह झारखंड है, जहां कोने-कोने में आदिवासी-उत्पीड़ित वर्ग के अनगिनत जवानों ने अपने प्राणों की आहुति दी है. आज मुझे 8.5 एकड़ जमीन घोटाले के आरोप में गिरफ्तार किया गया है, अगर उनमें हिम्मत है तो मेरे नाम पर दर्ज जमीन के दस्तावेज दिखाएं, अगर यह साबित हो गया तो मैं राजनीति से इस्तीफा दे दूंगा।’

झारखंड विधानसभा में 81 सदस्य हैं

झारखंड विधानसभा में 81 सदस्य हैं, जिसमें झामुमो, कांग्रेस और राजद गठबंधन के 47 विधायक हैं। गठबंधन को सीपीआईएमएल (एल) के एक विधायक का बाहरी समर्थन प्राप्त है। झामुमो और गठबंधन के विधायक रविवार शाम को ही हैदराबाद से विशेष विमान से रांची पहुंच गये. ये सभी विधायक पहले ही विधानसभा में विश्वास मत हासिल करने के लिए प्रतिबद्ध थे.