CD Scandal Case: पीड़िता के परिवार ने वीडियो जारी कर मांगी सरकार से मदद, कहा- बेटी की तस्वीरों से हुई छेड़छाड़

बीजेपी विधायक रमेश जारकिहोली (Ramesh Jarkiholi) की कथित संलिप्तता वाले बेंगलुरु के सेक्स सीडी स्कैंडल मामले में पीड़िता के पिता ने अपनी बेटी के अपहरण की शिकायत दर्ज करवाई है. उनका आरोप है कि 25 साल की उनकी बेटी होस्टल में पढ़ाई पूरी कर रही थी जहां उसका अपहरण कर लिया गया और अब उसे बंधक बनाकर रखा गया है और उसके अश्लील वीडियो शूट कर लिए गए हैं.

इसके बाद अब पीड़िता के परिवार ने एक वीडियो जारी कर सरकार से मदद मांगी है. इस वीडियो में पीड़िता की मां का कहना है कि उनकी बेटी की तस्वीरों से छेड़छाड़ की गई और फिर आरोपियों ने उसकी वीडियो को वायरल कर दिया जो बाद में न्यूज चैनल पर भी चलाई गई.

उनकी मां ने बताया कि उसकी वीडियो को टीवी पर देखकर मैंने उसे फोन किया और कहा कि तुम्हारी जैसे कोई टीवी पर आ रही है, लेकिन उसने कहा कि उसने वो वीडियो नहीं देखी. बाद में उसने कहा कि ये वो नहीं है और उसकी तस्वीरों के साथ छेड़छाड़ की गई है.

पीड़िता की मां ने कहा कि मैंने उसे घर आने के लिए कहा लेकिन पीड़िता ने कहकर इनकार कर दिया कि उसकी जान को खतरा है. इसके बाद जब मैंने उसे फोन किया तो उसने बताया कि वो सुरक्षित है. उन्होंने आगे बताया कि वो अपने भाइयों को मैसेज करती रहती थी. लेकिन एक दिन उसने कहा कि घर का कोई भी उससे संपर्क न करे क्योंकि उसके फोन को ट्रेस किया जा रहा है. जब भाइयों ने उसे फोन किया तो उसका फोन बंद आया.

पीड़िता की मां ने बताया कि जिस दिन उसका फोन बंद हुआ उसी दिन उनकी बेटी ने एक वीडियो जारी किया और कहा कि उसकी और उसके परिवार की जान को खतरा है. इसके बाद हमने थाने में शिकायत दर्ज कराई.

पुलिस ने क्या कहा?

इस मामले में पुलिस का बयान भी सामने आया है. हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक बेलागवी पुलिस कमिश्नर का कहना है कि एपीएससी थाने में शिकायत दर्ज की गई है लेकिन अब तक एफआईआर रजिस्टर नहीं की गई है. हम हम मामले पर कानूनी राय मांग रहे है और परिवार से जानकारी मांग रहे हैं.

उन्होंने कहा, ” शिकायत के मुताबिक अपहरण बेंगलुरु में हुआ था, तो मामले को बेंगलुरु पुलिस को ट्रांसफर किया जा सकता है. बेंगलुरु के पुलिस कमिश्नर कमल पंत ने बुधवार को कहा कि उन्हें अभी तक बेलगावी पुलिस से कोई सूचना नहीं मिली है.

मंत्रिपद से देना पड़ा था इस्तीफा

जारकिहोली को तीन मार्च को मंत्रिपद से इस्तीफा देना पड़ा था क्योंकि एक दिन पहले वीडियो सामने आये थे और एक सामाजिक कार्यकर्ता ने शिकायत दर्ज कराई थी कि जारकिहोली ने लड़की को कर्नाटक विद्युत पारेषण निगम लिमिटेड में नौकरी दिलाने के नाम पर उसका यौन शोषण किया था. बाद में सामाजिक कार्यकर्ता ने शिकायत वापस लेने की घोषणा की थी. बीजेपी विधायक ने इन आरोपों का खंडन कर कहा था ये वीडियो फर्जी है. उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई कि कुछ लोगों ने उन्हें ब्लैकमेल करने के लिए ये फर्जी वीडियो बना डाले थे. सरकार ने इस मामले की जांच के लिए एसआईटी की टीम बनाई है.

Check Also

Odisha Corona Update: कोरोना संकट पर ओडिशा सरकार का एक्शन प्लान, दो आदेश जारी, ऐसे पूरी होगी ऑक्सीजन की कमी

कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच ओडिशा सरकार (Odisha Government) ने दो अहम फैसले किए …