फतेहाबाद में पराली जलाने पर तीन किसानों के खिलाफ मामला दर्ज

फतेहाबाद, 20 नवंबर (हि.स.)। जिले में पराली जलने की बढ़ती घटनाओं को देखते हुए जिला प्रशासन ने अब सख्ती शुरू कर दी है। कृषि विभाग द्वारा पराली जलाने वाले किसानों के खिलाफ अब एफआईआर दर्ज करवाई जा रही है। फतेहाबाद में अलग-अलग स्थानों पर पराली जलाने बारे हरसेक द्वारा भेजी गई लोकेशन के आधार पर कृषि विभाग की टीमें मौके पर पहुंची और तीन किसानों के खिलाफ केस दर्ज करवाए गए हैं।

पुलिस को दी शिकायत में कृषि विभाग से एग्रीकल्चर सुपरवाइजर कोमल कुमार हिजरावां खुर्द ने सोमवार को बताया कि उपायुक्त फतेहाबाद द्वारा धान कटाई उपरांत बचे हुए अवशेष जलाने पर धारा 144 के तहत पूर्ण प्रतिबंध लगाया हुआ है। 18 नवम्बर को हरसेक द्वारा जीपीएस लोकेशन उन्हें भेजी गई। जिसमें गांव हिजरावां खुर्द में पराली जलाने बारे सूचना थी।

इस सूचना पर एग्रीकल्चर सुपरवाइजर कोमल कुमार, पटवारी, ग्राम सचिव, गांव के सरपंच व नंबरदार की टीम मौके पर पहुंची और घटना स्थल का निरीक्षण किया। इस दौरान टीम ने पाया कि किसान रमेश कुमार निवासी हिजरावां खुर्द द्वारा कुल 12 कनाल 4 मरले जगह में फसली अवशेष जताए गया है। इस पर किसान ने पराली में आग लगाकर भारतीय दंड संहिता की धारा 188 संपठित वायु एवं प्रदूषण नियंत्रण अधिनियम 1981 की उल्लंघना की है। इस पर एग्रीकल्चर सुपरवाइजर ने पुलिस को शिकायत दर्ज करवाई। पुलिस ने आरोपी किसान के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

दूसरे मामले में सदर फतेहाबाद पुलिस ने कृषि विभाग के एग्रीकल्चर सुपरवाईजर अहरवां संदीप की शिकायत पर किसान छिन्द्र सिंह के खिलाफ पराली जलाने के आरोप में केस दर्ज किया है। संदीप ने कहा कि उन्हें हरसेक द्वारा पराली जलाने बारे लोकेशन मिली थी। इसी लोकेशन के आधार पर उन्होंने कृषि विकास अधिकारी, पटवारी, ग्राम सचिव, सरपंच व नंबरदार शामिल थे, ने गांव अहरवां में मौके का निरीक्षण किया। इस दौरान टीम ने पाया कि किसान छिन्द्र सिंह अहरवां ने 4 कनाल भूमि में पराली में आग लगाई हुई थी। इस पर टीम ने पुलिस को सूचना दी।

पुलिस ने किसान के खिलाफ केस दर्ज किया है। एक अन्य मामले में कृषि विकास अधिकारी सुखपाल की शिकायत पर किसान सर्वजीत कौर निवासी बीराबदी के खिलाफ केस दर्ज किया है। सुखपाल के अनुसार उन्हें हरसेक द्वारा जीपीएस लोकेशन भेजी गई जिसमें बीराबदी गांव में पराली जलाने बारे सूचना थी। इस पर टीम ने मौके का निरीक्षण किया तो पाया कि किसान सर्वजीत कौर के खेत में 12 कनाल में फसल अवशेष जले हुए हैं।