उदयाचलगामी सूर्य को अर्घ्य देकर 36 घंटे का तोड़ा निर्जला व्रत

कानपुर, 20 नवम्बर (हि.स.)। छठ पर्व के मौके पर रविवार रात से ही कानपुर नगर में विभिन्न घाटों पर श्रद्धालुओं का जनसैलाब उमड़ा रहा। सोमवार को सुबह उगते सूर्य को अर्घ्य देकर 36 घंटे का निर्जला व्रत तोड़ा। इस दौरान सुरक्षा के मद्दे नजर पूरी रात एवं सुबह तक पुलिस के अधिकारी निरीक्षण करते रहे।

पहिले पहिल, छठी मईया व्रत तोहार…पहिले पहिल हम कईनी, छठी मइया व्रत तोहार, करिहा क्षमा छठी मइया, भूल-चूक गलती हमार…कांच ही बांस के बहंगिया, बहंगी लचकत जाय…गीतों के बीच व्रती महिलाओं ने घाटों, नहरों और कृत्रिम तालाबों के किनारे जल में रहकर उदयाचलगामी सूर्य को अर्घ्य दिया।

शहर के 23 बड़े और तमाम छोटे कृत्रिम तालाबों पर श्रद्धा का उमड़ता सैलाब मां के जयकारों के साथ आगे बढ़ता रहा। पुलिस आयुक्त डॉ. आर.के. स्वर्णकार के निर्देश पर सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस के अधिकारी घाटों के किनारे श्रद्धालुओं को आगाह करते हुए नजर आए। श्रद्धा के इस पर्व में सोमवार भोर से घाटों पर श्रद्धालुओं का रेला लगा रहा। भगवान भाष्कर की आराधना के साथ व्रत का समापन हुआ।