Brain Fogg : लोग कहते हैं दिमाग काम नहीं करता? क्या सच में दिमाग काम करना बंद कर देता है

Brain Fogg : कई बार ऐसा होता है कि हम किसी चीज को याद करने की कोशिश करते हैं, लेकिन बहुत कोशिश करने के बावजूद हमें वह चीज याद नहीं रहती। इसी तरह जब हम किसी चीज को समझने की कोशिश करते हैं तो उसे बहुत देर तक भी नहीं समझ पाते हैं। ऐसे में आपने अक्सर लोगों को कहते सुना होगा कि दिमाग काम नहीं कर रहा है… क्या वजह है कि लोग ऐसा कहते हैं? क्या सच में दिमाग काम नहीं करता? आइए जानें क्या है इसके पीछे की असल वजह… यह कोई बीमारी है या कुछ और? आइए जानते हैं इस खबर में…

क्या कारण है?

आपने कई लोगों को कहते सुना होगा कि उनका दिमाग काम नहीं कर रहा है। खासकर कोरोना के बाद कई लोगों के शरीर में ऐसे बदलाव देखने को मिले हैं कि वो किसी भी चीज पर फोकस नहीं कर पा रहे हैं. ये चीजों को जल्दी समझ नहीं पाते और इनकी स्मरण शक्ति बहुत कम हो जाती है। पढ़ते समय उन्हें बार-बार एक लाइन पढ़नी पड़ती है, लेकिन फिर भी वे ठीक से समझ नहीं पाते। किसी भी चीज पर ध्यान केंद्रित करने की उनकी क्षमता भी बुरी तरह प्रभावित होती है। दरअसल इन सबकी वजह ब्रेन फॉग है।

ब्रेन फॉग क्या है?

डॉ. ध्रुमिल कहते हैं कि ब्रेन फॉग कोई बीमारी नहीं है। यह एक सामान्य शब्द है। आम बोलचाल में आप इसे भ्रम कह सकते हैं। इसमें चीजों को याद न रखना, देखभाल करने में परेशानी होना और व्यक्ति दिन भर थकान महसूस करता है। इसमें आपको कोई भी जानकारी अच्छे से समझ में नहीं आती है।

ब्रेन फॉग के कारण

हालांकि इसके कई कारण हो सकते हैं, सबसे आम कारण अवसाद, क्रोनिक थकान सिंड्रोम या विटामिन की कमी हो सकते हैं। लिवर किडनी की समस्या भी इसका एक कारण हो सकती है। इसके अलावा थायराइड या शुगर में संतुलन के कारण भी यह देखा जा सकता है। कभी-कभी कुछ दवाएं भी ब्रेन फॉग का कारण बन सकती हैं।

ब्रेन फॉग के लक्षण

ब्रेन फॉग में आमतौर पर ध्यान और एकाग्रता की समस्या देखी जाती है। इसमें नींद की कमी, चिड़चिड़ापन, छोटी-छोटी बातों से मूड में बार-बार बदलाव आना। छोटी-छोटी बातें भी याद नहीं रहतीं। इन सभी चीजों की मौजूदगी भी सिरदर्द का कारण बनती है।

इलाज कैसे किया जाता है?

ब्रेन फॉग के कई कारण हो सकते हैं। ऐसे में जब आप डॉक्टर के पास जाते हैं तो डॉक्टर आपकी प्रॉपर मेडिकल हिस्ट्री लेते हैं और यह जानने की कोशिश करते हैं कि आपको ब्रेन फॉग क्यों होता है। वह ब्रेन फॉग के कारण का पता लगाने के लिए आपकी दवाओं की जांच करता है। वह आपको अवसाद के लक्षणों के लिए जाँचता है और यदि आवश्यक हो तो कुछ रक्त परीक्षण या फिजियोथेरेपी भी सुझाता है। डॉ। धरुमिल के मुताबिक, यह किसी तरह की कोई बीमारी नहीं है। इसके कई कारण हो सकते हैं। अगर आपको बताए गए लक्षण दिखाई दें तो आप डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

Check Also

जाने-अनजाने में आप रोज कर रहे हैं ऐसा, सावधान नहीं रहे तो नहीं बन पाएंगे बच्चे के पिता

घर से कर्म करते-करते शरीर बारह-बारह धड़क रहा है। नहाने के समय से लेकर भोजन के …