BMC ने Sonu Sood को बताया Habitual Offender, उच्च न्यायालय में कही ये बात

नई दिल्ली : बीएमसी (BMC) यानी बृह्नमुंबई म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन ने फिल्म अदाकार सोनू सूद (Sonu Sood) को आदतन क्रिमिनल (Habitual Offender) बताया है बीएमसी ने बॉम्बे उच्च न्यायालय में एफिडेविट दाखिल करके यह बात कही है बता दें कि सोनू और उनकी पत्नी सोनाली सूद पर मुंबई के जुहू स्थिति शक्ति सागर बिल्डिंग में बीएमसी की इजाजत के बिना गैर कानूनी निर्माण करवाने का आरोप है

बीएमसी (BMC) यानी बृह्नमुंबई म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन ने फिल्म अदाकार सोनू सूद (Sonu Sood) को आदतन क्रिमिनल (Habitual Offender) बताया है बीएमसी ने बॉम्बे उच्च न्यायालय में एफिडेविट दाखिल करके यह बात कही है बता दें कि सोनू और उनकी पत्नी सोनाली सूद पर मुंबई के जुहू स्थिति शक्ति सागर बिल्डिंग में बीएमसी की इजाजत के बिना गैर कानूनी निर्माण करवाने का आरोप है

अनधिकृत निर्माण को लेकर सोनू सूद (Sonu Sood) और उनकी पत्नी के विरूद्ध कम्पलेन दर्ज है इस कम्पलेन के विरूद्ध सोनू सूद ने उच्च न्यायालय में याचिका दाखिल की थी, जिसके उत्तर में बीएमसी (BMC) ने एफिडेविट दाखिल कर सोनू को आदतन क्रिमिनल (Habitual Offender) बताया है और बोला कि वो अनिधिकृत निर्माण का व्यावसायिक इस्तेमाल करना चाहते हैं

 

सोनू ने गैर कानूनी रूप से बनाया होटल

इस एफिडेविट में सोनू सूद पर गिराए जा चुके गैर कानूनी निर्माण को फिर से बनाने का भी आरोप लगाया गया है इसमें बोला गया है कि वे इसे दोबारा बनाकर अवैध ढंग से होटल अलबेट के रूप में इस्तेमाल करना चाहते हैं और वह भी बिना इजाजत के बीएमसी ने सोनू सूद (Sonu Sood) पर आरोप लगाया है कि वो पहले से मंजूर बिल्डिंग प्लान से अलग इस निर्माण को बचाकर व्यावसायिक इस्तेमाल करना चाहते हैं

बीएमसी (BMC) के एफिडेविट में बोला गया है कि सोनू सूद (Sonu Sood) को रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी के कॉमर्शियल इस्तेमाल की इजाजत नहीं मिली है इसमें बोला गया है कि सोनू सूद के पास वहां पर व्यावसायिक गतिविधि (होटल) चलाने का लाइसेंस नहीं है सोनू ने बिल्डिंग को अनधिकृत रूप से मोडिफाई किया है और वहां पर बिना लाइसेंस के होटल चला रहे हैं

 

बोले सोनू – कॉमर्शियल इस्तेमाल की इजाजत ली

दूसरी तरफ, सोनू ने बीएमसी की तरफ से फाइल की गई कम्पलेन का उत्तर देते हुए कहा, ‘मैं पहले ही बीएमसी से कॉमर्शियल इस्तेमाल की इजाजत ले चुका हूं यह महाराष्ट्र कोस्टल जोन मैनेजमेंट एथॉरिटी को अप्रूव करना है और Covid-19 की वजह से परमिशन समय पर नहीं आ पायी किसी तरह की कोई अनियमितता नहीं बरती गई है मैं हमेशा ही कानून का पालन करता हूं इस होटल का इस्तेमाल Covid-19 पैंडेमिक के दौरान कोविड-19 वॉरियर्स के रहने के लिए किया गया ‘

 

यही नहीं सोनू सूद (Sonu Sood) ने बोला कि यदि उन्हें इजाजत नहीं मिलती है तो वे इसे फिर से रेजिडेंशियल स्ट्रक्चर में बदल देंगे उन्होंने कहा, मैं बॉम्बे उच्च न्यायालय में दी गई कम्पलेन के विरूद्ध अपील कर रहा हूं

Check Also

लाल किले में घुसे किसान, कंगना रनौत ने दिलजीत दोसांझ और प्रियंका चोपड़ा पर तंज कसते पूछा- यही चाहते थे तुम लोग

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत ने किसानों की ट्रैक्टर रैली को लेकर दिलजीत दोसांझ और प्रियंका …