बीजेपी में पूरे देश में यूसीसी लागू करने की हिम्मत नहीं: एआईयूडीएफ विधायक ने पीएम मोदी पर साधा निशाना

उत्तराखंड में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की सरकार ने रविवार देर शाम समान नागरिक संहिता (यूसीसी) ड्राफ्ट को मंजूरी दे दी। दूसरी ओर, असम की भारतीय जनता पार्टी की हेमंत सरकार अगले विधानसभा सत्र में बहुविवाह प्रतिबंध विधेयक पेश करने की तैयारी कर रही है। इन दोनों राज्यों में भारतीय जनता पार्टी की सरकार है. अब ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट के विधायक ने बीजेपी शासित राज्यों के फैसले पर तंज कसा है.

बीजेपी पूरे देश में यूसीसी लागू नहीं कर सकती

ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट के विधायक रफीकुल इस्लाम ने यूसीसी और बहुविवाह प्रतिबंध के मुद्दे पर मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी में यूसीसी को पूरे देश में लागू करने की हिम्मत नहीं है. क्योंकि, बीजेपी भी जानती है, यूसीसी को पूरे देश में लागू करना लगभग असंभव है क्योंकि यहां कई धर्म, जातियां और समुदाय हैं।

यूसीसी मुद्दा भाजपा का चुनाव पूर्व प्रचार है

उन्होंने कहा कि ये चुनाव से पहले बीजेपी की बयानबाजी है. बीजेपी भी जानती है कि पूरे देश में यूसीसी लागू करना लगभग असंभव है. क्योंकि, यहां कई धर्म, जातियां और समुदाय हैं। भाजपा जो कुछ भी उत्तराखंड में लागू करना चाहती है, वह पूर्वोत्तर में लागू नहीं कर सकती। वे जो उत्तर प्रदेश में लागू करना चाहते हैं वह गोवा में लागू नहीं हो सकता। वे असम में जो करना चाहते हैं, वह अन्य राज्यों में नहीं कर सकते। भाजपा स्वयं भ्रमित है और अपने शासन वाले राज्य में आंशिक रूप से लागू करने का प्रयास कर रही है।

अगर यूसीसी लागू करना है तो सरकार को संसद में बिल लाना चाहिए

उन्होंने आगे कहा कि अगर उन्हें यूसीसी को पूरे देश में लागू करना था तो पहले उन्हें संसद में बिल लाना चाहिए था लेकिन वह इसे आंशिक रूप से उत्तराखंड और असम में लागू करने की कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि यह सब करके बीजेपी लोगों को बताएगी कि देखो हम यूसीसी लागू करने जा रहे हैं और बहुविवाह पर प्रतिबंध लगा रहे हैं.