डेजर्ट सफारी सहित अन्य साहसिक पर्यटन के लिए काफी संभावनाएं बीकानेर में

बीकानेर, 22 जून (हि.स.)। जिले में इकोटयूरिज्म की नई साइट्स और सुविधाएं विकसित करने के लिए वन और पर्यटन विभाग समन्वित प्रयास करें। कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल की अध्यक्षता में बुधवार को जिला पर्यटन विकास स्थायी समिति की बैठक में पर्यटन, नगर विकास न्यास, सार्वजनिक निर्माण , देवस्थान विभाग, स्काउट गाइड,वन विभाग सहित संबंधित अधिकारियों ने भाग लिया।

उन्होंने कहा कि यहां डेजर्ट सफारी सहित अन्य साहसिक पर्यटन के लिए काफी संभावनाएं हैं और कई नए स्थान इस दिशा में विकसित किए जा सकते हैं। इसके लिए विशेष ध्यान दिया जाए। उन्होंने कहा कि गजनेर, रायसर, दरबारी, कोडमदेसर सहित विभिन्न स्थानों पर ध्यान देते हुए माइक्रो प्लानिंग कर इन स्थानों पर पौधारोपण, घाट निर्माण, अतिक्रमण मुक्त आगोर, आकर्षक शेड्स आदि बनाने का कार्य हो। कलक्टर ने स्काउट कैटडस को सेन्ड आर्ट सिखाने के लिए प्रशिक्षण आयोजित करने के निर्देश दिए। जिला कलक्टर ने कहा कि बजट घोषणा के तहत लक्ष्मीनाथ मंदिर और सूरसागर में जो कार्य करवाना निर्धारित किया गया है उनको प्राथमिकता से लेते हुए समयबद्ध रुप से पूरा करवाया जाए।

Check Also

कच्छ दवा कारोबार का हब नहीं बन रहा है, है ना? रैपर के पास से एक बार फिर लाखों रुपये का नशीला पदार्थ बरामद

कच्छ : एक समय में पंजाब को ड्रग्स सहित ड्रग्स की तस्करी के लिए पूरे देश …