Bihar: पटना के श्रीहरमंदिर साहिब के मुख्य ग्रंथी ने अपने गले पर किया कृपाण से वार, आत्महत्या की कोशिश के बाद PMCH में भर्ती

पटना में गुरु गोबिंद सिंह का जन्मस्थान तख्त श्रीहरमंदिर साहिब (Takht Sriharmandir Sahib) के मुख्य ग्रंथी ने आत्महत्या की कोशिश की है.खबर के अनुसार मुख्य ग्रंथी भाई राजेंद्र सिंह ने अपनी ही कृपाण से गर्दन पर वार कर जान देने की कोशिश की है. इसके बाद उन्हें घायल हालत में पटना सिटी के गुरु गोविंद सिंह अस्पताल में भर्ती कराया गया है. जहां उनकी स्थिति की गंभीरता को देखते हुए डॉक्टरों ने उन्हें PMCH रेफर कर दिया है. घटना के बारे में बताया जा रहा है हरिमंदिर साहिब के मुख्य ग्रंथी भाई राजेंद्र सिंह पिछले कुछ दिनों से तनाव में थे . बताया जा रहा है कि यहां उनके पद पर किसी दूसरे व्यक्ति की बहाली की खबर आने के बाद से वह परेशान थे.

इसके बाद उन्होंने गुरुवार को आत्महत्या करने की कोशिश की और अपने कृपाण से खुद के गर्दन पर वार कर जान देने की कोशिश की है. इसके बाद परिजनों ने उन्हें खून से तर-बतर देखा तो उन्हें गुरु गोविंद सिंह अस्पताल में भर्ती कराया. जहां उनकी हालत गंभीर होने पर उन्हें पीएमसीएच रेफर कर दिया गया है.

पुलिस ने कहा शिकायत मिलने पर होगी कार्रवाई

घटना के बारे में पटना के SSP मानवजीत सिंह ढिल्लो ने कहा है कि इस बावत चौक थाना को सूचना मिली है. कहा जा रहा है कि राजेंद्र सिंह के गर्दन पर किसी धारदार हथियार से चोट लगी है. तो वहीं मामले की जांच करने गई पुलिस को कुछ लोगों ने बताया कि ग्रंथी भाई राजेन्द्र सिंह ने खुद की कृपाण से गर्दन पर वार किया है. लेकिन मामले में उनके परिवार की तरफ से कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई है. आवेदन आने पर कार्रवाई की जाएगी.

तो वहीं मुख्यग्रंथी के तनाव में रहने की बात पर उन्होंने कहा कि प्रेशर की जानकारी नहीं है. गुरूद्वारे की कमिटियों के बीच लड़ाई जरूर है. लेकिन इनके द्वारा कभी किसी बात की आधिकारिक शिकायत थाने या कोर्ट में नहीं की गई है.

श्रीहरमंदिर साहिब 10वें  गुरु गोबिंद सिंह जी की जन्मस्थली है

पटना का श्रीहरमंदिर साहिब सिखों के 10वें और आखिरी गुरु गोबिंद सिंह जी की जन्मस्थली है. सिखों की आस्था से जुड़ा ऐतिहासिक दर्शनीय स्थल है. जन्म स्थान पर महाराजा रणजीत सिंह ने गुरुद्वारा का निर्माण कराया था. इस प्रसिद्ध और एतिहासिक गुरुद्वारे में गुरु गोबिंद सिंह की कृपाण, उनकी खड़ाऊं और कंघा विराजमान है

Check Also

बिहार को मिला दो पद्म सम्मान, बेगूसराय को गर्व है अपने अर्थशास्त्री शैवाल गुप्ता पर

बेगूसराय, 26 जनवरी (हि.स.)। बिहार में बेगूसराय के सुप्रसिद्ध चिकित्सक और रंगमंच, संस्कृतिक, साहित्य एवं …