मध्य प्रदेश में मौसम विभाग का बड़ा अलर्ट, 11 जिलों में बारिश की संभावना

भोपाल :  एक तरफ जहां पूरा देश कोरोना वायरस को हराने के लिए घरो में कैद है वहीं, दूसरी तरफ राजधानी भोपाल समेत मध्यप्रदेश के कई जिलों में मौसम बदल गया है। तेज हवाओं के साथ हल्की बारिश का दौर शुरू हो गया है। मौसम विभाग के अनुसार, 25 से 27 मार्च के दौरान मध्यप्रदेश के कुछ जिलों वर्षा के साथ गरज चमक के साथ आंधी (हवाओं की अधिकतम गति 30 से 40 किमी प्रति घंटा) की संभावना है।
मौसम विशेषज्ञ शैलेन्द्र नायक के अनुसार, पहला चक्रवाति संचरण के रुप में पश्चिमी विच्छोप उत्तरी पाकिस्तान, सटे हुये पंजाब तथा जम्मू एवं कश्मीर पर स्थित है तथा इससे प्रेरित चक्रवाती संचरण पश्चिमी राजस्थान एवं सटे पाकिस्तान पर स्थित है। चक्रवाती संचरण के रुप में दूसरा पश्चिमी विच्छोप अफगानिस्तान के पश्चिमी हिस्सो एवं आसपास के क्षेत्रो में स्थित है। इन दोनों पश्चिमी विच्छोपों एवं प्रेरित चक्रवाती संचरण के संयुक्त प्रभाव के कारण मध्यप्रदेश के हिस्सों में कुछ स्थानों से अनेक स्थानों पर बारिश के साथ गरज चमक के साथ आंधी (हवाओं की अधिकतम गति 30 से 40 किमी प्रति घंटा) की संभावना है।
उन्होंने बताया कि आगामी 3 से 4 दिनों के दौरान मध्यप्रदेश के अधिकतम एवं न्यूनतम तापमानों में विशेष परिवर्तन की संभावना नहीं है। मध्यप्रदेश मे 28 से 29 तक शुष्क मौसम के बाद फिर 31 मार्च से 1 अप्रैल तक हल्की वर्षा एवं ओलावृष्टि का एक और दौर है। 30 मार्च से एक ताजा पश्चिमी विच्छोप द्वारा पश्चिमी हिमालयीन क्षेत्र को प्रभावित करने की संभावना है। इस कारण 30 मार्च से 1 अप्रैल के दौरान मध्यप्रदेश के कुछ हिस्सो में कहीं कहीं हल्की ओलावृष्टी/वर्षा का एक दौर की संभावना है।
इन जिलों में हो सकती है बारिश
अगले 24 घंटो में इंदौर और उज्जैन संभाग के जिलों में बारिश हो सकती है बाकि जिलों में मौसम सामन्य रहेगा। इंदौर, उज्जैन, होशंगाबाद, भोपाल, ग्वालियर, और चंबल संभाग के जिलों में और टीकमगढ़, सागर, दमोह, नरसिंहपुर और छिंदवाड़ा जिले में बारिश हो सकती है।
संक्रमण फैलने का खतरा
हमीदिया अस्पताल के छाती व श्वास रोग विशेषज्ञ डॉक्टर विकास मिश्रा ने बताया कि अचानक मौसम के बदलने के कारण हल्की बारिश और फिर धूप निकलने से संक्रमण का खतरा ज्यादा रहेगा। इसी तरह मौसम अगर लंबे समय तक ऐसा बना रहता है तो वायरस का संक्रमण फैल सकता है। उन्होंने बताया कि ऐसे मौसम के कारण अत्यावश्यक होने पर ही घर से बाहर निकलें। गीला होने से बचें।

Check Also

ऐसी भी लापरवाही: बीमार लड़की को लेकर जा रही एंबुलेंस की रास्ते में ऑक्सीजन खत्म, तड़प-तड़पकर हुई मौत

कोटा. राजस्थान में लापरवाही का बड़ा मामला सामने आया है, जहां एक बीमार लड़की ने सरकारी …