मुलेठी के फायदे : अगर आप मधुमेह से पीड़ित हैं तो रोजाना पिएं इस जड़ी बूटी की चाय, जल्द मिलेगा लाभ

12_09_2022-12_09_2022-mulethi_benefits_9133412

 आयुर्वेद में कई ऐसी चमत्कारी औषधियां हैं जिनके बारे में कम ही लोग जानते हैं। अगर आप भी डायबिटीज से पीड़ित हैं तो यहां हम आपको एक ऐसी जड़ी-बूटी के बारे में बता रहे हैं, जो खाने में चीनी जैसी मिठास देती है और नुकसान नहीं पहुंचाती। अगर आपका शुगर लेवल हाई है तो आपको रोजाना मुलठी की चाय का सेवन करना चाहिए। गौरतलब है कि मुलठी औषधीय गुणों से भरपूर एक पौधा है, जिसका उपयोग भारत में सदियों से विभिन्न बीमारियों के इलाज के लिए किया जाता रहा है। चीनी की जगह मुलठी का इस्तेमाल करना शरीर के लिए ज्यादा फायदेमंद होता।

भारत में तेजी से बढ़ रहे मधुमेह के मरीज

मधुमेह आज दुनिया की एक बड़ी समस्या है, भारत में भी मधुमेह रोगियों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। इससे हृदय, रक्त वाहिकाओं, आंखों, गुर्दे और नसों से संबंधित कई बीमारियां हो सकती हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन का भी मानना ​​है कि दुनिया भर में 422 मिलियन लोग मधुमेह से पीड़ित हैं। भारत में भी ऐसे मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ी है। मधुमेह तब होता है जब रक्त में ग्लूकोज की मात्रा बढ़ जाती है। इसलिए मधुमेह से पीड़ित लोगों को चीनी या चीनी से बचना चाहिए।

मुलठी एक झाड़ीदार पौधा है। आयुर्वेद में इसके कई गुणों का वर्णन किया गया है। मूली के तने की जड़ को सुखाकर अनेक रोगों में औषधि के रूप में प्रयोग किया जाता है। गले में खराश, गले में खराश और गले में खराश को शांत करने के लिए प्रयोग किया जाता है। अगर आपको डायबिटीज है तो आप चाय में चीनी की जगह मुलठी का इस्तेमाल कर सकते हैं.

इन रोगों में कारगर है मुलठी

मुलठी सर्दी की दवा है। इसका सेवन करने से पाचन क्रिया धीमी हो जाती है और यह स्वाद में मीठा होता है। मुलठी में एंटीऑक्सिडेंट होते हैं, जो आंतों के स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। इसके अलावा यह अल्सर, सांस की समस्या और बैक्टीरिया के संक्रमण को ठीक करता है। एक दिन में केवल 1 से 5 ग्राम मुलठी का ही सेवन करना चाहिए, इससे अधिक सेवन करने से नुकसान हो सकता है।

Check Also

12-48

दिल का स्वास्थ्य: अगर आप कार्डियक अरेस्ट से बचना चाहते हैं, तो आज से ही इन चीजों का त्याग करें

कार्डिएक अरेस्ट हेल्थ टिप्स: गलत खान-पान और गलत लाइफस्टाइल से दिल की बीमारी का खतरा …