लखनऊ : भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) से स्वामी प्रसाद मौर्य के इस्तीफे के बाद उनके समर्थक विधायकों का टूटना जारी है। अब शिकोहाबाद से विधायक मुकेश वर्मा ने भी इस्तीफा दे दिया है। पिछले दो दिनों में यूपी सरकार के 2 मंत्रियों और कुछ विधायकों ने पार्टी छोड़ने का ऐलान कर दिया है।

मुकेश वर्मा ने इस्तीफे में कहा है कि योगी सरकार ने 5 साल के कार्यकाल के दौरान दलित, पिछड़ों और अल्पसंख्यक समुदाय के नेताओं और जनप्रतिनिधियों को कोई तवज्जो नहीं दी गई और उन्हें उचित सम्मान नहीं दिया गया। मुकेश वर्मा ने भी स्वामी प्रसाद मौर्य और दारा सिंह की तरह प्रदेश सरकार पर दलितों, पिछड़ों, किसानों, बेरोजगार नौजवानों और छोटे-लघु और मध्यम श्रेणी के व्यापारियों की घोर उपेक्षा की गई है।

मुकेश भी सपा में जाएंगे?
मुकेश वर्मा ने बीजेपी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देते हुए कहा है कि स्वामी प्रसाद मौर्य शोषित-पीड़ितों की आवाज हैं और वही उनके नेता हैं। वह उनके साथ हैं। स्वामी का समाजवादी पार्टी में जाना तय माना जा रहा है। वह 14 जनवरी को सपा की सदस्यता लेंगे।