26 जनवरी से पहले आतंकी का कबूलनामा निशाने पर थे एक साथ दिल्ली के ये ठिकाने स्पेशल सेल पूछताछ कर वापस लौटी दिल्ली

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के अधिकारी आतंकी से पूछताछ करके वापस दिल्ली लौट आए हैं. इस दौरान उनके पास काफी अहम जानकारी हाथ लगी है. दिल्ली पुलिस सूत्रों के मुताबिक आतंकी से पूछताछ में ये खुलासा हुआ है कि आतंकवादियों के इशारे पर जामिया यूनिवर्सिटी (JMI Univeristy) के छात्र नायकू ने दिल्ली स्थित NIA हेडक्वॉर्टर, पुलिस मुख्यालय और पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन की रेकी कर वीडियो भी बनाया था.

टेलीग्राम पर भेजे मैसेज हुए डिकोड

सूत्रों के मुताबिक- टेलीग्राम पर आतंकियों ने Mujahidin Ghajwat Ul Hind नाम का आतंकी ग्रुप बनाया हुआ है और लगातार जम्मू कश्मीर के नौजवानों को रेडिक्लाइज कर रहा है.

आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर पुलिस (J&K Police) ने TRF के 4 आतंकियों को गिरफ्तार किया था. उन आतंकियों से पूछताछ करने दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल कश्मीर गई थी. रेकी करने वाला आतंकी जामिया यूनिवर्सिटी में पढ़ता था. पढ़ाई के दौरान उसने 3 जगहों की रेकी थी.

 

जम्मू कश्मीर पुलिस ने कुछ दिनों पहले जैश और लश्कर के ऑफशूट माने जाने वाले TRF (The Resistance Front) के 4 आतंकियों को गिरफ्तार किया था.

26 जनवरी से पहले आतंकी का कबूलनामा

दिल्ली पुलिस सूत्रों के मुताबिक आतंकी से पूछताछ में कई खुलासे हुए हैं. गिरफ्तार आतंकियों में नायकू इमाद नासर नाम का आतंकी जो TRF के OGW (ओवर ग्राउंड वर्कर ) के तौर पर काम कर रहा था. आतंकी नायकू (Naikoo) ने बताया कि उसने साल 2017 में दिल्ली के जामिया यूनिवर्सिटी में एडमिशन लिया और दिल्ली में रह कर पढ़ाई करने लगा. वो लगातार फेसबुक पर धार्मिक और कश्मीर से जुड़े पोस्ट डालता था इसी दौरान आतंकियों ने उससे संपर्क किया.

2019 में कश्मीर के कुछ आतंकियों ने टेलीग्राम पर नायकू को पाकिस्तान-अफगानिस्तान बॉर्डर पर बैठे एक आतंकी से कांटेक्ट करवाया. नायकू लगातार टेलीग्राम पर बॉर्डर पर मौजूद लोगों से बात करने लगा.

हवाला से आती थी रकम

आतंकी नायकू (Naikoo) ने दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल (Special Cell) को ये भी बताया कि उसने पाकिस्तान-अफगानिस्तान बोर्डर पर मौजूद आतंकी के कहने पर अपने दोस्त के साथ फरवरी 2019 में NIA हेडक्वार्टर के एंट्री गेट का वीडियो बनाया. फिर उसने ITO स्थित दिल्ली पुलिस मुख्यालय के मेन एंट्रेंस गेट का वीडियो बनाया. आखिर में वो पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन पहुंचा और वहां का वीडियो बनाने के बाद उसे टेलीग्राम के जरिए आतंकी दोस्तों के पास भेज दिया.

जांच में ये भी सामने आया है की नायकू के अकाउंट में हवाला के जरिए लाखों रुपए आए थे. नायकू के पिता जम्मू-कश्मीर पुलिस में रह चुके हैं. चूंकि मामला दिल्ली से जुड़ा था इसलिए दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल की टीम आतंकियों से पूछताछ करने दिल्ली गई थी.

Check Also

खुजली, लाल आंखें ओमाइक्रोन संक्रमण का संकेत दे सकती हैं; आप सभी को इस नए लक्षण के बारे में जानने की जरूरत

भले ही ‘उपन्यास’ कोरोनावायरस SARS-CoV-2 हमारे बीच दो साल से अधिक पुराना है, लेकिन इसने …