आगाह रहो! / पैरों में ऐसा लक्षण दिखे तो समझ लें कि कोलेस्ट्रॉल का स्तर खतरनाक रूप से बढ़ गया है, इलाज जरूरी

  • शरीर में कोलेस्ट्रोल लेवल को ना बढ़ने दें
  • जैसे-जैसे स्तर बढ़ेगा, कई तरह की बीमारियों का सामना करना पड़ेगा
  • पैरों में ये लक्षण दिखें तो गंभीर हो जाता है

खराब कोलेस्ट्रॉल की वजह से होती है ये बीमारियां 

इस प्रकार, आमतौर पर शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर में वृद्धि का कोई संकेत नहीं होता है। लेकिन कभी-कभी ऐसा दिखाई दे सकता है। पैरों में कोलेस्ट्रॉल का स्तर खतरनाक रूप से बढ़ जाता है और इसके कुछ लक्षण दिखाई देते हैं। कोलेस्ट्रॉल हमारे खून में मोम जैसा पदार्थ होता है। कोलेस्ट्रॉल दो तरह का होता है, एक कोलेस्ट्रॉल हमारे शरीर के लिए बहुत जरूरी माना जाता है, वहीं दूसरा कोलेस्ट्रॉल दिल की बीमारियों और कई अन्य बीमारियों के खतरे को बढ़ा देता है। इसे उच्च घनत्व वाले लिपोप्रोटीन और कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन कोलेस्ट्रॉल के रूप में जाना जाता है। एचडीएल को अच्छा कोलेस्ट्रॉल माना जाता है, जिसकी हमारे शरीर को बहुत जरूरत होती है। जबकि एलडीएल को खराब कोलेस्ट्रॉल माना जाता है, यह हृदय रोग और स्ट्रोक जैसी समस्याओं के जोखिम को बहुत बढ़ा देता है।   

बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल का संकेत 

कोलेस्ट्रॉल सामान्य रूप से आपके रक्त में प्रवाहित होता है। जैसे ही कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ता है, रक्त वाहिकाओं में कोलेस्ट्रॉल बनना शुरू हो जाता है। जिससे हृदय में रक्त का प्रवाह बहुत कम हो जाता है, जिससे हृदय रोग और स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है। इस प्रकार, शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ने के कोई लक्षण नहीं होते हैं। लेकिन कभी-कभी इसके संकेत भी मिल सकते हैं। 

कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ने पर पैरों में दिखाई देते हैं ये लक्षण 

एक अध्ययन के अनुसार, बढ़ा हुआ कोलेस्ट्रॉल का स्तर पैरों में लक्षण दिखाता है। शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर में वृद्धि से पेरिफेरल आर्टरी डिजीज नामक समस्या हो जाती है। यह समस्या धमनियों में कोलेस्ट्रॉल के निर्माण के कारण धमनियां संकीर्ण होने का कारण बनती है। इससे पैरों और बाजुओं में रक्त का प्रवाह बहुत आसान हो जाता है। पैरों में पर्याप्त रक्त की आपूर्ति न होने के कारण व्यक्ति को चलते समय दर्द का सामना करना पड़ता है। 

पैरों का रंग बदलें 

परिधीय धमनी रोग का एक प्रमुख लक्षण पैरों की मलिनकिरण है। अगर आपके पैरों का रंग भी धीरे-धीरे नीला हो जाता है, तो यह इस बात का संकेत है कि आपके पैरों में रक्त का प्रवाह बहुत कम है। यदि परिधीय धमनी रोग का समय पर इलाज नहीं किया जाता है, तो आपको गंभीर समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। 

Check Also

1353846-jalebi

Diabetes के मरीजों के लिए वरदान है ये अनोखी ‘जंगली जलेबी’, जान लें इस्तेमाल के तरीके

Health Benefits of Jungle Jalebi: जलेबी भारत की राष्ट्रीय मिठाई है लेकिन इस रसभरी मिठाई से …