सावधान… गलती से भी न लें इस मेडिकल कॉलेज में एडमिशन, नहीं होगी एमबीबीएस की डिग्री

भारत से हर साल बड़ी संख्या में छात्र मेडिकल की पढ़ाई के लिए विदेश जाते हैं। इनमें से ज्यादातर छात्र पढ़ने के लिए अमेरिका, ब्रिटेन, जर्मनी, चीन जाते हैं। इसके अलावा भारतीय छात्र एमबीबीएस करने के लिए यूक्रेन, रूस, जॉर्जिया, किर्गिस्तान जैसे देशों में भी जाते हैं । हालांकि कई बार छात्र फर्जी यूनिवर्सिटी के चंगुल में फंसकर अपना भविष्य बर्बाद कर लेते हैं। ऐसी स्थितियों में, राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग (एनएमसी) ऐसे विश्वविद्यालयों के बारे में बार-बार चेतावनी जारी करता है। ऐसी ही एक चेतावनी फिर जारी की गई है।

एक सर्कुलर में कहा गया है कि राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग ने किर्गिस्तान में मेडिकल की डिग्री हासिल करने वाले छात्रों को वहां के विश्वविद्यालयों के बारे में आगाह किया है। एनएमसी ने कहा है कि एविसेना इंटरनेशनल मेडिकल यूनिवर्सिटी, किर्गिस्तान को चिकित्सा शिक्षा नियामक निकाय द्वारा मान्यता प्राप्त नहीं है।

ऐसे में एविसेना इंटरनेशनल मेडिकल यूनिवर्सिटी को एनएमसी द्वारा मान्यता पत्र के साथ प्रसारित किया जा रहा है, जिसमें दावा किया गया है कि इसे नियामक निकाय द्वारा मान्यता प्राप्त है। छात्रों को बताया गया है कि यह मान्यता पत्र पूरी तरह से फर्जी है। अगर कोई छात्र इस कॉलेज से अपनी पढ़ाई पूरी करता है तो उसकी एमबीबीएस की डिग्री मान्य नहीं मानी जाएगी।

एनएमसी ने ऐसा कहा

एनएमसी सर्कुलर में कहा गया है, “यह सभी के संज्ञान में लाया गया है कि एक फर्जी पत्र प्रसारित किया जा रहा है कि एविसेना इंटरनेशनल मेडिकल यूनिवर्सिटी (बिश्केक) को राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग द्वारा मान्यता प्राप्त है।” ऐसे में भारतीय छात्र यहां पढ़कर डॉक्टर बन सकते हैं। पत्र पर एनएमसी के सचिव और अवर सचिव के हस्ताक्षर हैं।

सर्कुलर में आगे कहा गया है, ‘यह स्पष्ट किया जाता है कि संबंधित पत्र पूरी तरह से फर्जी है और ऐसा कोई पत्र राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग द्वारा प्रकाशित नहीं किया गया है।’

छात्र के विदेश जाने के पीछे यही कारण है

दरअसल हर साल बड़ी संख्या में छात्र मेडिकल की पढ़ाई के लिए विदेश जाते हैं। इसके पीछे की वजह वहां की कम फीस और अच्छी मेडिकल एजुकेशन है। विदेश में पढ़ाई पूरी करने के बाद भारत लौटने पर उन्हें यहां चिकित्सा पद्धति के लिए केवल एक परीक्षा देनी होती है, जिसे विदेशी चिकित्सा स्नातक परीक्षा (एफएमजीई) के नाम से जाना जाता है।

Check Also

वायरल: क्या भाई ने की बहन से शादी? अब क्या कहें…

भाई बहन की शादी : इस दुनिया में माता-पिता के बाद अगर किसी रिश्ते को पवित्र …