बैंक नहीं बताते पर्सनल लोन से जुड़ी ये बातें, लोन लेने वाले रहें सावधान..

अक्सर बैंक कर्मचारी पर्सनल लोन से जुड़ी सारी जानकारी खुलकर नहीं बताते हैं। लेकिन जब आप एक-एक करके सबके बारे में पूछेंगे तो वो आपको जानकारी देंगे.

प्रतिलिपि

ज्यादातर लोग पर्सनल लोन लेते समय बैंक कर्मचारी से सभी शुल्कों और ब्याज दरों के बारे में खुलकर नहीं पूछते हैं। इस वजह से उन्हें बाद में पछताना पड़ता है। क्योंकि कुछ ऐसी बातें हैं जो खुद बैंक कर्मचारी ग्राहकों को लोन देने से पहले नहीं बताते हैं.

अगर ग्राहक का क्रेडिट स्कोर अच्छा है तो वह बातचीत करके बैंक से प्रोसेसिंग फीस और ब्याज पर छूट पा सकता है। आमतौर पर बैंक बेहतर क्रेडिट स्कोर वाले ग्राहकों के लिए प्रोसेसिंग फीस माफ करने के अलावा ब्याज भी कम कर देते हैं। इसलिए जैसे ही आपको बैंक से पर्सनल लोन का ऑफर मिले तो आपको तुरंत हां नहीं कह देना चाहिए, बल्कि ऑफर के बारे में जानकारी हासिल कर लेनी चाहिए.

पर्सनल लोन का ऑफर मिलने पर बैंक कर्मचारी से पूछना चाहिए कि यह किस तरह का ऑफर है और इस ऑफर के तहत पर्सनल लोन पर प्रोसेसिंग फीस देनी होगी या नहीं। बैंक कर्मचारी या एजेंट से इन सवालों के सही जवाब मिलने के बाद ही लोन आवेदन पर आगे बढ़ना चाहिए। क्योंकि कुछ बैंक अपने लोन की रकम में छुपे हुए चार्ज और प्रोसेसिंग फीस शामिल कर लेते हैं, जिसे बैंक कर्मचारी या एजेंट लोन देते समय बताने से बचते हैं।

पर्सनल लोन लेते समय एक और महत्वपूर्ण बात यह है कि आपको बैंक से यह भी पूछना चाहिए कि अगर आप लोन नहीं चुका पाए तो आप पर कितना जुर्माना लगाया जाएगा। इसके अलावा अगर आप लगातार दो ईएमआई नहीं चुका पा रहे हैं तो आगे क्या होगा?

एस एस

इसके अलावा पर्सनल लोन लेने से पहले कुछ बैंकों से जानकारी जुटा लें, जिसमें न सिर्फ ब्याज दर या ईएमआई अहम है, बल्कि प्रोसेसिंग फीस, डॉक्यूमेंटेशन चार्ज और प्री-क्लोजर चार्ज के बारे में भी जानकारी लेना बेहद जरूरी है।