आयुर्वेदिक उपाय: अगर आप भी तेजी से वजन कम करना चाहते हैं तो ये 8 जड़ी बूटियां आपकी कर सकती हैं मदद

मोटापा एक गंभीर समस्या है जो कई गंभीर और जानलेवा बीमारियों को जन्म दे सकती है। शरीर के कई हिस्से ऐसे होते हैं जहां वजन कम करना बहुत मुश्किल होता है। अगर कंट्रोल डाइट और जिम के बाद भी मोटापा कम नहीं हो रहा है तो आप कुछ आयुर्वेदिक नुस्खे भी आजमा सकते हैं। हम आपको आयुर्वेद के खजाने से कुछ ऐसी जड़ी-बूटियों के बारे में बताने जा रहे हैं जो पेट की चर्बी कम करने में आपकी मदद कर सकती हैं। अच्छी बात यह है कि अन्य दवाओं की तरह इनके ज्यादा साइड इफेक्ट भी नहीं होते हैं।

मेंथी

वजन घटाने के लिए मेथी के पानी की अत्यधिक अनुशंसा की जाती है। मेथी एंटीऑक्सिडेंट में समृद्ध है जो चयापचय में सुधार करती है और वसा हानि में मदद करती है। इसके साथ ही मेथी के पत्ते आहार फाइबर से भी भरपूर होते हैं जो पाचन शक्ति को मजबूत करते हैं और मोटापा कम करने में मददगार साबित होते हैं।

पान के पत्ते

पान के ताजे पत्ते को पिसी हुई काली मिर्च के साथ सुबह-शाम खाली पेट खाने से वजन कम करने में मदद मिलती है। ऐसा करने से आप अपने शरीर से अतिरिक्त चर्बी से छुटकारा पा सकते हैं।

मलाथी

इटली की एक रिपोर्ट के मुताबिक नियमित रूप से मालथी खाने से शरीर की चर्बी बिना किसी साइड इफेक्ट के कम हो सकती है। इसमें मौजूद फ्लेवोनोइड्स बेली फैट से प्रभावी ढंग से लड़ने में मदद करते हैं। मलाथी के नियमित सेवन से आपके शरीर की चर्बी कम होती है और इससे आपके गले को भी फायदा होता है।

मुसब्बर वेरा

एलोवेरा त्वचा को साफ रखने और प्राकृतिक चमक देने के लिए जाना जाता है, लेकिन यह पौधा आपके पेट की चर्बी को कम करने में भी मददगार है। इसके रस को चमत्कारी भी कहा जाता है। इसके सेवन से स्वास्थ्य लाभ मिलता है। एलोवेरा जूस का रोजाना सेवन करने से बेली फैट कम करने में मदद मिलती है। कम से कम दो हफ्ते तक इसका सेवन करें।

मिनट

पुदीना या पुदीना एक ऐसा खाद्य पदार्थ है जिसका इस्तेमाल लगभग हर घर में होता है। यह न सिर्फ भूख बढ़ाता है बल्कि पेट की चर्बी भी कम करता है। पुदीना कैलोरी में कम और फाइबर में उच्च होता है, जो तुरंत ऊर्जा प्रदान करता है।

शहद और नींबू

अगर आप वजन नियंत्रण के लिए शहद और नींबू के रस का सेवन करते हैं तो इसमें काली मिर्च पाउडर मिलाकर और भी असरदार बनाया जा सकता है। जिन लोगों को सर्दी-जुकाम होने का डर होता है, उनके लिए इस डर को दूर करने के लिए काली मिर्च काफी है।

करी पत्ते

करी पत्ता या मीठी नीम में सेहत से जुड़े कई गुण होते हैं। जानकारों के अनुसार करी पत्ते को खाने या किसी भी रूप में लेने से यह हमारे शरीर को डिटॉक्सीफाई करता है और हमारे शरीर की चर्बी को भी कम करता है। करी पत्ता शरीर में कोलेस्ट्रॉल को भी नियंत्रित रखता है।

अदरक

आयुर्वेद में भी अदरक के गुणों का उल्लेख किया गया है। ताजा अदरक को शहद के साथ खाने से शरीर की चर्बी कम होती है। सुबह अदरक खाने से शरीर का तापमान बढ़ कर रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। इसे सुबह की चाय के रूप में पीने से दिन भर एनर्जी बरकरार रहती है।

Check Also

526142-1349073-belly-fat-pista1

वजन घटाने के उपाय: इस सूखे मेवे को खाने से मोम की तरह पेट की चर्बी पिघलती है और याददाश्त में सुधार

वजन घटाने के लिए पिस्ता: हम सभी जानते हैं कि सूखे मेवे और नट्स खाने …