अयोध्या राम मंदिर: राम मंदिर में कब तक प्राण प्रतिष्ठा, कैसी होगी रामलला की मूर्ति

अयोध्या: अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का काम तेजी से चल रहा है. राम जन्मभूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद से मंदिर निर्माण का काम चल रहा है, जिसके पूरा होने का देश की जनता इंतजार कर रही है. कहा जा रहा है कि 2024 तक मंदिर बनकर तैयार हो जाएगा। इस बीच श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय का एक बड़ा बयान सामने आया है. जिसमें उन्होंने कहा है कि दिसंबर 2023 में हम प्राण प्रतिष्ठा कर सकते हैं।

कार्यक्रम के अनुसार चल रहा है
राम मंदिर के बारे में जानकारी देते हुए चंपत राय ने कहा कि राम मंदिर का निर्माण पूर्व नियोजित कार्यक्रम के अनुसार चल रहा है और हम इस वर्ष के अंत तक प्राण प्रतिष्ठा कर सकेंगे. इस बीच उन्होंने यह भी बताया कि राम भक्त कितनी दूर से दर्शन कर सकेंगे. चंपत राय ने कहा कि राम के भक्त करीब 30 से 35 फीट की दूरी से अपने देवता के दर्शन कर सकेंगे।

 

कैसी होगी रामलला की मूर्ति?
महासचिव चंपत राय ने कहा कि मंदिर में 5 से 7 साल पुरानी मूर्ति रामलला के बचपन की होगी, लेकिन यह इतनी बड़ी होगी कि श्रद्धालु अपनी आंखों से भगवान के दर्शन और भगवान के चरणों का दर्शन कर सकेंगे. आसमानी और ग्रे रंग के पत्थरों से रामलला की प्रतिमा बनेगी, जो देखने में बेहद खूबसूरत होगी.

गृह मंत्री अमित शाह ने दिया बयान
चंपत राय से पहले गृह मंत्री अमित शाह ने राम मंदिर को लेकर बड़ा बयान दिया है. इससे पहले शाह ने अयोध्या के लिए टिकट अभी से बुक कराने की बात कही थी, क्योंकि 1 जनवरी 2024 तक भगवान रामलला का भव्य मंदिर बनकर तैयार हो जाएगा और लोग दर्शन कर सकेंगे. बता दें कि राम मंदिर में श्रद्धालुओं के लिए पूरी तैयारी की जा रही है. रामलला का मंदिर बनने के बाद लाखों लोग दर्शन के लिए अयोध्या पहुंच सकेंगे.

Check Also

बीएचयू में हिन्दी विभाग के शोध अभ्यर्थियों ने दिया धरना, विभाग के गेट को किया बंद

वाराणसी, 01 फरवरी (हि.स.)। काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) हिन्दी विभाग के पूर्व पीजी के छात्रों …