Assembly Elections 2022: क्या फिर लौटेगा राजनीतिक रैलियों का दौर? चुनाव आयोग की बैठक जारी, 2 बजे तक होगा फैसला

चुनाव आयोग (Election commission) आगामी विधानसभा चुनाव (Assembly Elections 2022) को लेकर रैलियों और जनसभाओं पर लगी रोक की समीक्षा कर रहा है. स्वास्थ्य सचिव (Union Health Secretary) के साथ आयोग बैठक करने के बाद फैसला लेगा कि रैलियां, सभाएं, यात्राएं करने की अनुमत‍ि दी जाए या नहीं. इसका आयोजन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हो रहा है. इस मुद्दे पर दोपहर 2:00 बजे तक आयोग की ओर से आधिकारिक बयान जारी कर दिया जाएगा. शुक्रवार को हुई बैठक में मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा और दोनों चुनाव आयुक्त इस बात पर एकमत थे कि कोराना तेजी से बढ़ रहा है और रैली पर रोक जारी रखना ही उचित होगा.

चुनाव आयोग की बैठक में शुक्रवार को समाजवादी पार्टी द्वारा किए गए उल्लंघन का मुद्दा शामिल है. आयोग उल्लंघन पर एफआईआर के अलावा जुर्माना लगाने का निर्णय भी ले सकता है. लखनऊ सपा कार्यालय में रैली में भीड़ जुटाए जाने के मामले में पुलिस ने केस दर्ज किया है. यह जानकारी लखनऊ के सीपी डीके ठाकुर ने दी है. पुलिस अधिकारी ने कहा कि जानकारी मिली थी कि करीब 2500 लोग समाजवादी पार्टी के कार्यालय में जमा हुए थे. लखनऊ के सीपी ने कहा कि हमारी टीम ने वहां पहुंचकर कार्यक्रम को रोक दिया. साथ ही नियम के उल्लंघन के आधार पर मामला दर्ज कर लिया गया है.

15 जनवरी तक सभी तरह की रैलियों पर रोक

आयोग ने चुनाव की तारीखों की घोषणा करते हुए 15 जनवरी तक सभी तरह की रैलियों पर रोक लगा दी थी और सिर्फ वर्जुअल कैंपेन की इजाजत दी गई थी. चुनाव आयोग के फिलहाल जो द‍िशा-निर्देशों जारी किए हैं, उसके मुताबिक राजनीतिक दलों द्वारा कोई भी पद यात्रा, साईकिल यात्रा या रोड शो निकालने पर रोक है. इस मीटिंग में आयोग कोरोना वायरस के प्रसार और इसके नए स्वरूप ओमिक्रॉन के बारे में सूचनाओं के आधार पर निर्णय लेगा. निर्वाचन आयोग ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में राजनीतिक दलों से आग्रह किया था कि वे डिजिटल माध्यम से प्रचार करें.

10 मार्च को आएंगे नतीजे

उत्तर प्रदेश में सात चरणों में चुनाव कराने का फैसला किया गया है. उत्‍तर प्रदेश में 10,14,20,23,27 फरवरी के बाद 3 और 7 मार्च को मतदान किया जाएगा. पंजाब में एक ही चरण में चुनाव कराने का फैसला किया गया है. पंजाब में 14 फरवरी को मतदान होगा. इसी तरह उत्तराखंड में भी एक चरण में चुनाव होगा. यहां पर भी 14 फरवरी को ही मतदान कराए जाएंगे. गोवा में एक चरण में चुनाव होगा. गोवा में 14 फरवरी को मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे. जबकि मणिपुर में दो चरणों में मतदान कराने का फैसला किया गया है. मणिपुर में 27 फरवरी और 3 मार्च को मतदान होंगे. सभी राज्‍यों में 10 मार्च को मतगणना की जाएगी.

Check Also

विशेषज्ञों ने बताया ओमिक्रोन वैरिएंट से बचने के पांच बड़े उपाय, ताकि सुरक्षित रहें आप, लाकडाउन से बचेगा देश

 देश में ओमिक्रोन को लेकर हाहाकार मचा है। देश में बीते 24 घंटे में कोरोना …