शांति मार्च निकालने पर अड़े कांग्रेस नेताओं की हुई गिरफ्तारी

लखनऊ, 22 जुलाई(हि.स.)। फोन टेपिंग प्रकरण में उत्तर प्रदेश कांग्रेस के नेताओं के शांति मार्च निकालने पर अड़ने के बाद हजरतगंज थाने की पुलिस ने उनकी गिरफ्तारी की और इको गार्डन के मैदान तक पहुंचाया। इस दौरान आराधना मिश्रा को घर में ही बंद रखा गया।

 

डालीबाग स्थित प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय लल्लू के आवास के बाहर सुबह से ही पुलिस बल तैनात कर दिया गया था। सुबह के वक्त अजय लल्लू शांति मार्च के लिये निकलना चाहते थे लेकिन उन्हें आवास पर ही रोका गया। पुलिस के रोकने के बावजूद जब अजय लल्लू नहीं माने तो उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

अपराह्न अजय लल्लू के आवास के बाहर सैकड़ों कांग्रेस कार्यकर्ता भी जुट आये थे। लल्लू को कार्यकर्ताओं के साथ पुलिस ने हिरासत में लेते हुये इको गार्डन के मैदान पहुंचाया। इसी तरह कांग्रेस के नेता विधान परिषद दीपक सिंह, पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन, पूर्व विधायक सतीश अजमानी, पूर्व विधायक श्याम किशोर शुक्ला भी गिरफ्तार कर लिये गये।

गिरफ्तारी से पहले प्रदेश अध्यक्ष लल्लू ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता सड़क पर शांति मार्च कर राज्यपाल को ज्ञापन देना चाहते थे। फोन टेपिंग का प्रकरण सामान्य नहीं है। इसके लिये हमारी तैयारी थी लेकिन पुलिस ने सैकड़ों कार्यकर्ताओं को जगह—जगह पर गिरफ्तार कर लिया है।

उन्होंने कहा कि सरकार निजता का सम्मान नहीं कर रही है। स्वतंत्रता पर डाका डालना अन्याय है। लोकतंत्र के दमन के विरुद्ध कांग्रेस संघर्ष से पीछे नहीं हटेगी। लोगों की निजता पर हमला करना दर्शाता है कि भाजपा बेहद डरी हुई है।

हिन्दुस्थान समाचार

Check Also

बहुसंख्यक और अल्पसंख्यक में भेद करने वालों को हुआ राम जी की शक्ति का एहसास : डॉ दिनेश शर्मा

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा अयोध्या पहुंचे और हनुमानगढ़ी पर कनक भवन में …

");pageTracker._trackPageview();