म्यांमार के स्कूल में सेना के हेलीकॉप्टर में आग, सात छात्रों समेत 13 की मौत

content_image_cb44745e-97f1-4e24-aeb7-eda437546351

नायपीडॉ : म्यांमार के एक स्कूल पर सेना के एक हेलीकॉप्टर ने फायरिंग कर दी है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, स्कूल में मौजूद कम से कम 13 लोगों की मौत हो गई है, जिसमें सात छात्र शामिल हैं. स्कूल एक बौद्ध मठ में स्थित था। सूत्रों के मुताबिक फायरिंग में 17 से ज्यादा लोग घायल भी हुए हैं. सेंट्रल सर्गेग इलाके में स्थित स्कूल पर सेना ने हमला किया. सेना के मुताबिक विद्रोही स्कूल में छिपे हुए थे.

सेना के हमले के तुरंत बाद कुछ बच्चे मारे गए और कुछ सैनिकों के गांव में घुसने पर मारे गए। मृतकों को स्कूल से 11 किमी दूर एक इलाके में दफनाया गया था। सेना ने दावा किया कि विद्रोहियों ने सबसे पहले गोलियां चलाईं। तभी सेना ने फायरिंग कर दी। करीब एक घंटे तक गांव में फायरिंग होती रही।

स्कूल प्रशासक के मुताबिक वह बच्चों को सुरक्षित जगह पर छिपाने की कोशिश कर रही थी. उसी समय एमआई-35 हेलीकॉप्टर पहुंच गए थे। उनमें से दो ने गोलियां चलानी शुरू कर दीं। 

स्कूल पर मशीनगनों और अन्य भारी हथियारों से गोलाबारी की गई। उन्होंने कहा कि जब तक शिक्षक और छात्र कक्षा में गए तब तक एक शिक्षक और सात साल का बच्चा गोलियों का शिकार हो चुका था. उसके शरीर से खून बह रहा था और पट्टी बांधकर उसके खून को रोकने का प्रयास किया जा रहा था।

उन्होंने कहा कि फायरिंग रुकने के बाद सेना ने सभी लोगों को बाहर आने को कहा. कम से कम 30 छात्रों को गोली मार दी गई। किसी को पीठ में, किसी को गर्दन में और किसी को पैरों में गोली मारी गई.मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सेना ने यह सूचना मिलने के बाद कि पीपुल्स डिफेंस फोर्सेज के सदस्य छिपे हुए हैं, स्कूल को निशाना बनाया.

गौरतलब है कि म्यांमार में तख्तापलट के बाद से सेना के हमलों में आम नागरिक मारे जा चुके हैं। एक साल में 2000 लोगों की मौत हो चुकी है। 12 हजार से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया गया है। 

Check Also

xEpSwTjlJ1Kd5rLfoDMDjajDTM58dByN219yLm8e

बांग्लादेश में दुर्गा पूजा में 24 की मौत, कई लापता

बांग्लादेश के पंचगढ़ जिले में रविवार को करातोया नदी में एक नाव पलट गई। जिसमें 24 …