Army Day 2022: सीमा पर आतंकियों को पनाह दे रहा पाकिस्तान, आर्मी चीफ ने कहा- 400 दहशतगर्द घुसपैठ की फिराक में

देश के 74वें सेना दिवस (Army Day 2022) के अवसर पर थल सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे, नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार (Navy Chief Admiral R Hari Kumar) भारतीय वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी (Air Chief Marshal VR Chaudhari) ने दिल्ली में आज राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की और उनकी स्मृति में माल्यार्पण किया. हर साल इस दिन भारतीय सेना के उन जवानों को सम्मानित किया जाता है, जिन्होंने निस्वार्थ भाव से देश की सेवा की और भाईचारे की सबसे बड़ी मिसाल पेश की.

सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे (Army Chief General MM Naravane) ने इस अवसर पर करियप्पा परेड ग्राउंड (Cariappa Parade Ground) में परेड का निरीक्षण किया. इस दौरान उन्होने पाकिस्तान की नापाक साजिशों का जिक्र किया और कहा, ‘पाकिस्तान आतंकवादियों को पनाह देने की अपनी आदत से लाचार है. सीमा पार ट्रेनिंग कैंप में तकरीबन 300-400 आतंकवादी घुसपैठ करने के अवसर की तलाश में बैठे हैं.’ उन्होंने कहा, ‘सरहद पार से ड्रोन द्वारा हथियारों की तस्करी की कोशिश भी जारी है.’

 

‘भारतीय सेना के लिए पिछला साल रहा चुनौतीपूर्ण’- सेना प्रमुख

सेना प्रमुख ने आगे कहा, ‘कोविड महामारी के दौरान पड़ोसी देशों के साथ हमारा आपसी सहयोग और बढ़ा है. संयुक्त राष्ट्र पीसकीपिंग ऑपरेशन में भारतीय सेना (Indian Army) का महत्वपूर्ण योगदान हमेशा रहा है. हमारी सेना के आज भी 5000 से ज्यादा सैनिक अलग-अलग पीसकीपिंग मिशन में तैनात हैं, जो देश को अलग पहचान दे रहे हैं.’ वहीं, चीन के साथ तनाव पर नरवणे ने कहा, ‘चीन के साथ सीमा पर गतिरोध (India China Border Dispute) के कारण पिछला साल भारतीय सेना के लिए चुनौतीपूर्ण रहा. हाल ही में हुई 14वीं बैठक में स्थिति को नियंत्रण में रखने के लिए कई बिंदुओं पर विघटन था.’

 

गलवान संघर्ष में शहीद सिपाही ‘सेना पदक’ से सम्मानित

सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने सेना दिवस के अवसर पर सिपाही कुंदन कुमार ओझा (Sepoy Kundan Kumar Ojha) को गलवान संघर्ष (Galwan Clash) में वीरता के लिए मरणोपरांत सेना पदक से सम्मानित किया. यह सम्मान उनकी पत्नी ने ग्रहण किया. इनके अलावा, मेजर अनिल कुमार और मेजर महिंदर सिंह को भी सेना पदक प्रदान किया गया. 74वें आर्मी डे के उपलक्ष्य में सेना की पैराशूट रेजिमेंट के कमांडो ने भारतीय सेना की नई डिजिटल लड़ाकू वर्दी में सेना दिवस परेड के दौरान मार्च किया. ऐसा पहली बार है जब सार्वजनिक रूप से सेना की वर्दी का अनावरण किया गया है.

Check Also

महाराष्ट्र | शीत लहर एक और दिन जारी रहेगी; उत्तर भारत में जलवायु परिवर्तन का प्रभाव

पुणे: उत्तर भारत में शीत लहर के परिणाममहाराष्ट्र में भी लहर के अगले दो दिनों तक …