यूपी के ‘रामराज्य’ का एक और सबूत, सपा विधायक के भाई का बेरहमी से मर्डर

उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले में हुई इस सनसनीखेज वारदात ने विपक्षी दलों को एकबार फिर ये योगी आदित्यनाथ के राज में कानून-व्यवस्था पर सवाल उठाने का मौका दे दिया है. और ये सवाल भी जायज हैं, आखिर एक विधायक के भाई की बेरहमी से हत्या हुई है.

रविवार को जिले की भुड़कुड़ा थाना कोतवाली इलाके के घटारो गांव के हनुमान मंदिर के पास खून से लथपथ युवक का शव मिलने से सनसनी फैल गई. युवक की पहचान सैदपुर से सपा विधायक सुभाष पासी के चचेरे भाई लाल बाबू पासी के रूप में की गई. प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक मृतक लाल बाबू के सिर पर गंभीर चोट के निशान थे. आशंका जताई जा रही है कि हत्या के बाद शव को लाकर फेंका गया है.

दरअसल घटारो नदी के पास सुबह टहलने के लिए ग्रामीण गए थे. इस दौरान उनकी नजर हनुमान मंदिर के पास सड़क के किनारे पड़ी लाश पर पड़ी, शव को देखते ही गांव में हड़कंप मच गया. मामले की जानकारी होते ही घटना स्थल पर ग्रामीणों की भीड़ जुट गई. वही घटना की जानकारी होते ही थाने की टीम मौके पर पहुंच गई और शव को कब्जे में लेकर शिनाख्त में जुट गई.

ग्रामीणों ने बताया कि गांव से कुछ ही दूरी पर आजमगढ़ जिले का इलाका शुरू हो जाता है, आशंका जताई जा रही है कि युवक की हत्या कर शव को बदमाशों ने यहां फेंक दिया होगा. वहीं घटनास्थल पर ही शव की पहचान नंदगंज थाने इलाके के डिहिया गांव निवासी सैदपुर से सपा विधायक सुभाष पासी के चचेरे भाई के रूप में बताई जा रही है. पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. मृतक सफेद शर्ट व नीला जींस पहना हुआ था.

Check Also

अंतिम संस्कार में उमड़े लोग; बटालियन के जवानों व अफसरों को झेलना पड़ा ग्रामीणों का गुस्सा, मौत की जांच की मांग उठी

बीएसएफ की 89 बटालियन हेडक्वार्टर शिकार माछियां में स्वीपर था अलीगढ़ के पूरन सिंह साथी …