अमेरिका ने जॉर्डन हमले का बदला लिया, इराक-सीरिया में 85 से ज्यादा ठिकानों पर हवाई हमले; बिडेन ने कहा- ये शुरुआत

वाशिंगटन: अमेरिका ने हाल ही में जॉर्डन में अपने सैन्य अड्डे पर हुए हमले का बदला लिया है। अमेरिकी सेना ने इराक और सीरिया में 85 से अधिक स्थानों पर हवाई हमले करके जॉर्डन के हमले का जवाब दिया। इस ऑपरेशन में मिलिशिया ग्रुप के छह लड़ाके मारे गए, जबकि कई अन्य घायल हो गए.

अमेरिका ने जॉर्डन हमले का बदला लिया

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, जॉर्डन हमले के जवाब में अमेरिका ने इराक और सीरिया में ईरान समर्थित मिलिशिया और ईरानी रिवोल्यूशनरी गार्ड्स के 85 से अधिक ठिकानों पर हमले किए।

यूएस सेंट्रल कमांड के अनुसार, स्थानीय समयानुसार शाम 4 बजे, सेना ने इराक और सीरिया में मिलिशिया और रिवोल्यूशनरी गार्ड समूहों के खिलाफ हवाई हमले शुरू किए।

ये स्थान नष्ट कर दिये गये

अमेरिकी सैन्य बलों ने 85 से अधिक ठिकानों पर हमला किया. हमले में अमेरिका से भेजे गए लंबी दूरी के बमवर्षक समेत कई विमान शामिल थे। यूएस सेंट्रल कमांड ने बताया कि ठिकानों पर हमला किया गया। इनमें कमांड और नियंत्रण संचालन केंद्र, खुफिया केंद्र, रॉकेट और मिसाइल और मानव रहित हवाई वाहन भंडारण, मिलिशिया समूहों और उनके आईआरजीसी प्रायोजकों के रसद और गोला-बारूद आपूर्ति श्रृंखला केंद्र शामिल हैं।

जो बिडेन ने हवाई हमलों पर प्रतिक्रिया दी

शुक्रवार को अमेरिका में हुए हमलों के बाद राष्ट्रपति जो बाइडेन ने बयान जारी किया है. उन्होंने कहा कि ये तो सिर्फ शुरुआत है, इसके बाद और भी हमले होंगे. उन्होंने कहा कि अमेरिका पश्चिम एशिया या दुनिया में कहीं भी संघर्ष नहीं चाहता है, लेकिन जो लोग हमें नुकसान पहुंचाना चाहते हैं उन्हें यह बात जाननी चाहिए. यदि आप किसी अमेरिकी को नुकसान पहुंचाएंगे तो हम जवाब देंगे।’

राष्ट्रपति ने पहले ही दी थी चेतावनी