Alwar Gangrape Case: कांग्रेस शासित राज्यों में इस तरह की घटनाएं नई बात नहीं, निजी फायदे के बारे में सोचती है कांग्रेस- नरेंद्र सिंह तोमर

राजस्थान (Rajasthan) के अलवर (Alwar) में एक मूकबधिर नाबालिग के साथ गैंगरेप (Alwar Gangrape Case) की घटना हुई है. इस मामले को लेकर केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) ने कांग्रेस पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा है कि कांग्रेस शासित राज्यों में इस तरह की घटनाएं होती रहती है. कांग्रेस कानून व्यवस्था पर ज्यादा ध्यान नहीं देती है. अगर पार्टियां अपने निजी फायदे के बारे में सोचेगी तो जनता को सुरक्षित रखने में हमेशा नाकाम रहेगी.

अलवर में हुए गैंगरेप की घटना ने पूरे राजस्थान को हिला कर रख दिया है.  राज्य में पिछले कुछ दिनों में इस तरह की तीसरी घटना सामने आई है. जिससे लोगों में सरकार के प्रति खासा रोष है.  वहीं इस मामले को लेकर राजनीति भी चरम पर है. राज्य की विपक्षी दल बीजेपी (rajasthan bjp) भी कांग्रेस सरकार के खिलाफ हमलावर हो गई है. बीजेपी अलग-अलग मोर्चों पर कांग्रेस सरकार को घेर रही है.

राज्यसभा सांसद डॉ. किरोड़ी लाल मीणा गुरूवार को सवाई माधोपुर में काफी संख्या में युवतियों के साथ राजस्थान सरकार के खिलाफ  धरना  दिया.  किरोड़ी मीणा प्रियंका गांधी से मिलने की मांग कर रहे थे. उन्होंने कहा कि राजस्थान सरकार बेटियों की आवाज सुनें. विरोध प्रदर्शन के दौरान डॉ. किरोड़ी लाल मीणा को पुलिस ने हिरासत में लिया था. रणथंभौर के होटल शेर बाघ में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी अपने निजी दौरे से पहुंची थी. वहीं अब केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने भी गहलोत सरकार पर निशाना साधा है.

विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी को झटका

वहीं उत्तर प्रदेश में होने वाले वाले विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक पारा सातवें आसमान पर है. राज्य जोड़-तोड़ की राजनीति जोरों पर चल रही है. चुनाव से पहले स्वामी प्रसाद मौर्या ने बीजेपी से नाता तोड़कर सपा का दामन थाम लिया. मौर्या के इस्तीफे के बाद बीजेपी में इस्तीफों की झड़ी लग गई. बीजेपी के सहयोगी दलों से भी विधायक निकल पर सपा में जाने लगे हैं. अपना दल के विधायक चौधरी अमर सिंह ने सपा का दामन थाम लिया है.

नरेंद्र सिंह तोमर ने चार राज्यों में सरकार बनाने का किया दावा

आपको बता दें कि अमर सिंह चौधरी से पहले राज्य सरकार में मंत्री रहे धर्म सिंह सैनी ने बीजेपी को झटका दिया था. सैनी ने बीजेपी से नाता तोड़ते हुए समाजवादी पार्टी का दामन थाम लिया. इससे पहले योगी आदित्यनाथ सरकार के एक और मंत्री दारा सिंह चौहान ने भी बीजेपी छोड़कर समाजवादी पार्टी जॉइन कर ली थी. अब तक 14 विधायक बीजेपी छोड़ समाजवादी पार्टी में जाने की बात कह चुके हैं. वहीं कई ने तो इस्तीफे देकर समाजवादी पार्टी जॉइन भी कर ली है. बीजेपी को लगातार लग रहे झटके पर केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में इस्तीफा कोई बड़ी बात नहीं है. बीजेपी को राज्य में हर जगह से समर्थन मिल रहा है. लोग हमें आशीर्वाद देंगे और बीजेपी यूपी, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में सरकार बनाएंगे.

Check Also

NSS से होता है स्वयं का व्यक्तित्व परिष्कृत – उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. यादव

भोपाल : उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि राष्ट्रीय सेवा योजना स्वयं …