अपर बॉडी को शेप में रखने के साथ कंधों और हाथों को भी मजबूत बनाता है ‘गोमुखासन’ का अभ्यास

कोरोना की नई गाइडलाइंस जारी हो गई हैं। जिसके अंतर्गत रेस्टोरेंट, सिनेमाघर, होटल, वाटर पार्क, स्विमिंग पूल समेत जिम को भी बंद कर दिया गया है। तो ऐसे में फिट बने रहने के लिए योग और ऐसी एक्सरसाइज़ेस का ही ऑप्शन बचता है जिन्हें आप घर में आसानी से कर सकते हैं। तो आज से हम आपको रोजाना एक या दो ऐसी एक्सरसाइज़ बताएंगे, जिससे आप अपने फिट रहने के टारगेट को जारी रख सकते हैं। हमारी पूरी कोशिश रहेगी इसमें ज्यादातर ऐसे वर्कआउट्स शामिल हों, जिन्हें करने के लिए किसी तरह के उपकरण की भी आवश्यकता नहीं होती। शुरुआत हम अपर बॉडी से करेंगे।

 

आज जिस आसन के बारे में हम जानने वाले हैं उसका नाम है गोमुखासन।

गोमुखासन

इसकी मदद से पीठ और बांहों की मांसपेशियां मजबूत होती हैं। इससे थकान, चिंता और तनाव को कम किया जा सकता है। यह पैर में ऐंठन को कम करता है और पैरों की मांसपेशियों को मजबूत बनाता है। इसके रोजाना अभ्यास से कंधों और हाथों के दर्द में भी काफी आराम मिलता है।

जानें इसे करने का सही तरीका

– योगा मैट पर सुखासन पोज़ में खड़े हो जाएं। इसके बाद अपने बाएं पैर को बॉडी की ओर खींचकर उसे अपने पास ले आएं।

अब अपने दाएं पैर को जांघों के ऊपर रखें और उसे भी खींचकर बॉडी के पास ले आएं।

– फिर अपने दाएं हाथ को कंधे के ऊपर करें और कोहनी के पास से मोड़कर अपनी पीठ के पीछे जितना हो सकता है, ले जाने की कोशिश करें।

– अब अपने बाएं हाथ को भी कोहनी के पास से मोड़ें और पेट की साइड से पीछे की ओर पीठ पर लेकर आएं।

– अब दोनों हाथों को खींचकर आपस में मिलाने की कोशिश करें और पीठ के पीछे हाथों को पकड़ लें।

– इस पोज़ में कुछ देर रहें और 10-12 बार सांस लें।

– फिर शुरुआती पोजीशन में आ जाएं।

इन बातों का रखें ध्यान

– अगर पीठ के पीछे हाथों को पकड़ने में परेशानी हो रही है तो जबरदस्ती न करें।

– रीढ़ की हड्‍डी में किसी तरह की प्रॉब्लम हो, तो इसे न करें।

– घुटने, गर्दन, कंधे में दर्द है, तो इस आसन को न करें।

– प्रेग्नेंट महिला पहले तीन महीनों में इसे न करें।

 

Check Also

नमी के कारण से आपके घर के बिस्किट्स और कुकीज सील गए हैं, तो इन आसान से टिप्स से फिर से बनाएं क्रिस्पी

हम सभी ये करते हैं कि बिस्कुट (biscuit) का पैकेट खोलते हैं तो एक दो खाकर उसको खुला …