मध्य प्रदेश के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूल 15 से 31 जनवरी तक बंद रहेंगे

भोपाल :  मध्य प्रदेश में कोरेाना के बढ़ते संक्रमण केा ध्यान में रखकर सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। अब राज्य मंे 15 जनवरी से 31 जनवरी तक सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों केा बंद रखा जाएगा।

राज्य में बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए सरकार की ओर से लगातार ऐहतियाती कदम उठाए जा रहे है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार केा क्राइसिस मैनेजमंेट कमेटी की बैठक बुलाई। इस बैठक में सभी जिलों के कलेक्टर, संभागों के कमिश्नरों , मंत्रियों आदि से वीडियो कांफ्रंेसिंग के जरिए चर्चा की।

इस बैठक में मुख्यमंत्री ने ऐलान किया कि आगामी 15 जनवरी से 31 जनवरी तक सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूल बंद रखे जाएंगे। मेला नहीं लगेंगे, रैलियां प्रतिबंधित रहेंगी। बड़ी सभाएं और आयोजन प्रतिबंधित कर दिए गए है।

साथ ही मुख्यमंत्री ने कहा, सभागार में कार्यक्रम हो सकेंगे, मगर बैठक क्षमता से पचास प्रतिशत लोग ही आ सकेंगे, यह संख्या अधिकतम 250 रहेगी। इसके अलावा खेल गतिविधियों में 50 प्रतिशत खिलाड़ी हिस्सा ले सकेंगे, जनता नहीं जाएगी।

क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी की बैठक में मुख्यमंत्री ने वर्चुअली जिला, विकासखण्ड, वार्ड एवं ग्राम स्तरीय समितियाँ, मंत्री, सांसद, विधायक, जन-प्रतिनिधि सहित कमिशनर्स, कलेक्टर्स, चिकित्सा महाविद्यालयों के डीन, सीएमएचओ और संबंधित अधिकारी से संवाद किया। सभी केा कोरोना नियंत्रण और व्यवस्थाओं के संबंध में संवाद कर आवश्यक निर्देश दिए।

राज्य में कोरोना बढ़ रहा हैं। यहां बीते 24 घंटों में 4755 मामले सामने आए है। इसमें सबसे ज्यादा मामले अब भी इंदौर में 1291, भोपाल में 1008 और ग्वालियर में 635 प्रकरण सामने आए है। राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या 21 हजार केा पार कर गई है। इस बीमारी की चपेट में बच्चे और बुजुर्ग भी आ रहे है। बड़ी संख्या में चिकित्सक भी संक्रमित हो रहे है।

Check Also

खुजली, लाल आंखें ओमाइक्रोन संक्रमण का संकेत दे सकती हैं; आप सभी को इस नए लक्षण के बारे में जानने की जरूरत

भले ही ‘उपन्यास’ कोरोनावायरस SARS-CoV-2 हमारे बीच दो साल से अधिक पुराना है, लेकिन इसने …