सेना प्रमुख की चेतावनी के बाद खौफ में पाकिस्तान, सताने लगा ऑपरेशन का डर

भारत के खिलाफ पाकिस्तान लगातार झूठा प्रोपेगेंडा फैलाता रहा है और इसमें कोई नई बात नहीं है. लेकिन पड़ोसी मुल्क भारतीय सेना से इतना खौफ है कि वह खुद ही इसका इजहार कर देता है. हाल ही में पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता असीम इफ्तिखार अहमद ने एक बार फिर भारत से अपने डर की बात खुलेआम कबूल की है. पाकिस्तान का ये बयान भारतीय सेना प्रमुख एम एम नरवणे की चेतावनी के बाद आया है.

पाकिस्तान को ऑपरेशन का डर

‘डॉन’ की खबर के मुताबिक पाकिस्तान ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से गुहार लगाई है कि भारत उसके खिलाफ कोई झूठा ऑपरेशन कर सकता है. इसके लिए पाकिस्तान ने अपने दोस्त मुल्कों को अलर्ट भी कर दिया है. प्रवक्ता असीम इफ्तिखार ने कहा कि मौजूदा हालात को देखते हुए उन्हें आशंका है कि भारत एक और ऑपरेशन को अंजाम दे सकता है. पाकिस्तान बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद से खौफ में है और उसे हर वक्त किसी हमले का डर सताता रहता है.

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने एक बार फिर दोहराया है कि वह भारत के साथ बातचीत चाहते हैं. प्रवक्ता का कहना है कि बॉर्डर पर दोनों मुल्क सीजफायर पर सहमत हुए हैं और क्षेत्रीय शांति के लिए यह जरूरी भी है. हालांकि पाकिस्तान ने आरोप लगाया कि अखंड भारत के विस्तारवादी रवैये की वजह से इस शांति को खतरा पैदा हो सकता है. पाकिस्तान से बातचीत को लेकर भारत का रुख एकदम साफ है और कई बार कहा चुका है कि आतंकवाद पर लगाम लगाए बगैर पड़ोसी देश से किसी भी तरह की बातचीत मुमकिन नहीं है.

सेना प्रमुख ने दी थी चेतावनी

पाकिस्तान की यह बौखलाहट सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे के उस बयान के बाद देखते को मिली है जिसमें उन्होंने पाकिस्तान को चेतावनी दी थी. सेना प्रमुख ने कहा था कि एलओसी के उस पार आतंकियों के लॉन्च पैड और ट्रेनिंग कैपों में मौजूद करीब 350 से 400 आतंकियों की बार-बार घुसपैठ की कोशिशें उनके नापाक इरादों का खुलासा करती हैं.

जनरल नरवणे ने आगे कहा कि हमने अपनी ओर से, आतंक के खिलाफ जीरो टॉलरेंस दिखाने का संकल्प लिया है और अगर हमें मजबूर किया जाता है तो गंभीर जवाबी कार्रवाई के लिए प्रतिबद्धता भी जताई है.

पाकिस्ताना इस बयान का खंडन भी कर चुका है और उसका दावा है कि इन बेबुनियाद आरोपों में कोई नई बात नहीं है और ये आरोप पाकिस्तान विरोधी प्रचार का हिस्सा हैं. पाकिस्तान का कहना है कि भारत की ओर से ऐसे बयान कश्मीर से अंतरराष्ट्रीय ध्यान हटाने की कोशिश हैं.

 

यह पहली बार नहीं है जब पाकिस्तान को भारत की तरफ से किसी ऑपरेशन का डर सकता रहा है. इससे पहले खुद पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान भारत के साथ न्यूक्लियर वॉर का खतरा जता चुके हैं. इसके अलावा उन्होंने बीजेपी और RSS को लेकर भी अपने नफरत भरे बयानों को दोहराया था.

Check Also

दक्षिण कोरिया: एक व्यक्ति ने मैरिज एजेंसी से विवाद के बाद खुद को लगाई आग

सियोल :  दक्षिण कोरिया में एक अंतर्राष्ट्रीय मैरिज एजेंसी के साथ विवाद के बाद गुस्से …