सरकार की घोषणा के बाद यह शेयर रॉकेट बन गया, इसे खरीदना लूट जैसा हो गया

GMR एयरपोर्ट्स इंफ्रास्ट्रक्चर शेयर: 1 फरवरी को पेश हुए अंतरिम बजट के बाद एयरपोर्ट कारोबार से जुड़ी कंपनी GMR एयरपोर्ट्स इंफ्रास्ट्रक्चर के शेयर रॉकेट की तरह बढ़ रहे हैं. हफ्ते के आखिरी कारोबारी दिन शुक्रवार को शेयर 86.94 रुपये पर पहुंच गया था. कारोबार के दौरान शेयर की कीमत 9 फीसदी बढ़ी. इससे पहले शेयर की कीमत 79.04 रुपये थी. 8 जनवरी 2024 को शेयर की कीमत 88.70 रुपये थी. शेयर 52 हफ्ते के उच्चतम स्तर पर है। 3 फरवरी को शेयर का भाव गिरकर 36.45 रुपये पर आ गया था. इस शेयर का 52 हफ्ते का न्यूनतम स्तर है।

कंपनी के तिमाही नतीजे
उल्लेखनीय हैं क्योंकि जीएमआर एयरपोर्ट इंफ्रास्ट्रक्चर ने अंतरिम बजट पेश होने के दिन ही दिसंबर तिमाही के नतीजों की घोषणा की थी। दिसंबर 2023 तिमाही में कंपनी को 317.46 करोड़ रुपये का घाटा हुआ। इससे पहले कंपनी को सितंबर तिमाही में 191.36 करोड़ का मुनाफा हुआ था. दिसंबर 2022 को समाप्त तिमाही के दौरान कंपनी का मुनाफा 1761.46 करोड़ रुपये था।

क्या है शेयरहोल्डिंग पैटर्न
जीएमआर एयरपोर्ट इंफ्रास्ट्रक्चर के शेयरहोल्डिंग पैटर्न की बात करें तो 59.07 फीसदी हिस्सेदारी प्रमोटर के पास है। वहीं, पब्लिक शेयरहोल्डिंग 40.93 फीसदी है. दिसंबर 2023 तक, व्यक्तिगत प्रमोटर के पास कंपनी के 96,60,070 शेयर हैं। इसके अलावा जीएमआर एंटरप्राइजेज प्राइवेट लिमिटेड के पास कंपनी के 2,68,48,43,150 शेयर हैं।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को बजट में हवाई अड्डों की घोषणा करते हुए
पिछले 10 वर्षों में विमानन क्षेत्र की तीव्र प्रगति का उल्लेख किया और कहा कि मौजूदा हवाई अड्डों का क्षेत्रफल और नए हवाई अड्डों का निर्माण तेज गति से जारी रहेगा। वित्त मंत्री ने अपने बजट भाषण में कहा कि उड़ान योजना के तहत टियर-टू और टियर-थ्री शहरों तक हवाई कनेक्टिविटी का विस्तार किया गया है। देश में 517 नए हवाई मार्गों पर 1.3 करोड़ यात्रियों ने उड़ान भरी है।