ओमिक्रॉन रिकवरी के बाद मरीजों को सता रही है पीठ दर्द की समस्या, जानें कैसे करें इस प्रॉब्लम को दूर

दुनियाभर के डॉक्टर और साइंटिस्ट ओमिक्रॉन वेरिएंट को अन्य वेरिएंट की अपेक्षा कम खतरनाक बता रहे हैं, लेकिन इससे रिकवर हुए मरीज बॉडी पेन खासतौर से पीठ दर्द और हर वक्त हरारत की शिकायत कर रहे हैं। डॉक्टर्स बता रहे हैं कि ऐसे मरीजों की संख्या दिनों-दिन बढ़ती ही जा रही है।

कितना खतरनाक है यह पीठ दर्द

– काफी हद तक यह दर्द डेंगू होने पर होने वाले असहनीय दर्द जैसा है। ओमिक्रॉन के मरीज रिकवरी के बाद ठीक उसी तरह के दर्द से जूझ रहे हैं।

– जो लोग पहले से ही कमर और पीठ दर्द की समस्या से परेशान रहते थे उनकी समस्या ओमिक्रॉन ने और ज्यादा बढ़ा दी है।

– किसी भी समस्या को लंबे समय तक इग्नोर करने से वो गंभीर रूप धारण कर लेती है और पीठ दर्द के साथ भी ऐसा ही है। आगे चलकर बैठने, सोने में दिक्कत हो सकती है इसलिए कोविड रिकवरी के बाद अगर आपको ये लक्षण देखने को मिल रहा है तो नजरंदाज किए बिना डॉक्टर को दिखाएं।

दर्द दूर करने के लिए इन टिप्स को कर सकते हैं फॉलो

 

– क्वारेंटाइन पीरियड में एक जगह बैठे न रहें बल्कि कमरे में ही हल्की चहलकदमी करते रहें।

– प्रॉपर वर्कआउट नहीं कर सकते तो हल्की-फुल्की स्ट्रेचिंग ही करें।

– स्पाइन को स्ट्रॉन्ग बनाने वाली एक्सरसाइजेस पर फोकस करें। योग का सहारा लें क्योंकि ये आराम से की जाने क्रिया है।

– बैठते, लेटते समय अपने पॉश्चर पर ध्यान दें। पेट के बल पैर को हल्का ऊपर उठाकर सोने से ये दर्द और ज्यादा बढ़ जाता है।

– शरीर को हाइड्रेट रखने के लिए पानी तो पर्याप्त मात्रा में पिएं ही साथ ही सूप, जूस का भी ज्यादा से ज्यादा मात्रा में सेवन करें।

– विटामिन डी के लिए रोजाना सुबह की धूप लें। इससे बॉडी के कई रोग-विकार दूर होते हैं।

– ज्यादा दर्द हो तो कोई दवा न लें। डॉक्टर से सलाह मशविरा करने के बाद ही इलाज शुरू करें।

Check Also

हाथ को सैनिटाइजर करने के बाद, कभी न करे ऐसी गलती

सैनिटाइजर का इस्तेमाल कोरोना वायरस से बचने के लिए किया जा रहा है। हाथों को …