भारत के बाद अब अमेरिका भी चीनी शॉर्ट वीडियो ऐप टिकटॉक पर नकेल कस रहा है। Tiktok से संबंधित उच्च जोखिम वाली सुरक्षा चिंताओं के कारण, इसे पूरे अमेरिका में सभी संघीय सरकारी उपकरणों पर प्रतिबंधित कर दिया गया है। हालांकि, इसका एकमात्र अपवाद कानून प्रवर्तन और राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसियां ​​होंगी, जो सुरक्षा अनुसंधान उद्देश्यों के लिए विशेष मामलों में ऐप का उपयोग कर सकती हैं। आपको बता दें कि टिकटॉक पर अमेरिका में डेटा प्राइवेसी और सेफ्टी को लेकर काफी समय से लगातार सवाल उठ रहे हैं। अब अमेरिकी सरकार ने इस पर बैन लगा दिया है।

जो बिडेन ने बिल पर हस्ताक्षर किए

अमेरिकी सरकार के इस प्रतिबंध का दूरगामी असर होगा। इस प्रतिबंध के बाद करीब 40 लाख सरकारी कर्मचारियों को अनिवार्य रूप से अपने मोबाइल और उन्हें जारी किए गए अन्य गैजेट्स से टिकटॉक हटाना होगा। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन द्वारा हाल ही में हस्ताक्षरित $ 1.7 ट्रिलियन खर्च बिल में बाइटडांस के मालिकाना आवेदन पर प्रतिबंध लगाने का प्रावधान शामिल है।

पिछले कुछ दिनों में यह ऐप और सख्त हो गया है

वहीं, टिकटॉक के प्रवक्ता ब्रुक ओबरवाटर ने कहा, ‘हम निराश हैं कि कांग्रेस ने सरकारी उपकरणों के लिए टिकटॉक पर प्रतिबंध लगाने का कदम उठाया है। यह निर्णय राष्ट्रीय सुरक्षा हितों को आगे बढ़ाने के लिए कुछ नहीं करेगा।

आपको बता दें कि पिछले कुछ दिनों में अमेरिका में टिकटॉक को लेकर तल्खी तेज हो गई है। पिछले महीने ही दक्षिण डकोटा के गवर्नर क्रिस्टी नोइम ने एक कार्यकारी आदेश जारी कर ऐप के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा दिया था। नोएम ने ट्विटर पर पोस्ट किए गए एक बयान में कहा कि हमसे नफरत करने वाले देशों के लिए खुफिया जानकारी जुटाने में साउथ डकोटा की कोई भूमिका नहीं होगी।