मुख्यमंत्री बनने के बाद आज चंपई सोरेन की पहली ‘परीक्षा’, विशेष सत्र में साबित करेंगे बहुमत

फ्लोर टेस्ट ऑफ चंपई सोरेन सरकार इन झारखंड: झारखंड की चंपई सोरेन सरकार के लिए आज बड़ा दिन है. वे आज विधानसभा में फ्लोर टेस्ट के जरिए अपना बहुमत साबित करेंगे. इससे पहले विधानसभा के विशेष सत्र में शामिल होने के लिए हैदराबाद के एक रिसॉर्ट में रुके गठबंधन सरकार के विधायक रांची लौट आए हैं. 

आज से दो दिवसीय विशेष सत्र

इन विधायकों में झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) और कांग्रेस के विधायक शामिल हैं. इन विधायकों को हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी और चंपई सोरेन के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद तेलंगाना भेजा गया था. तब जेएमएम ने बीजेपी पर विधायकों को खरीदने की कोशिश करने का आरोप लगाया था. बता दें कि झारखंड विधानसभा का दो दिवसीय विशेष सत्र आज से शुरू हो रहा है. इस दो दिवसीय सत्र में चंपई सरकार अपना बहुमत साबित करेगी.

ये है झारखंड विधानसभा का गणित

81 सदस्यीय झारखंड विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए चंपई सोरेन को 41 विधायकों का समर्थन हासिल करना होगा. सत्तारूढ़ गठबंधन सरकार का दावा है कि उसके पास 46 से अधिक विधायकों का समर्थन है. आपको बता दें कि झारखंड विधानसभा की 81 सीटों में से एक सीट खाली है. ऐसे में 80 सीटों पर बहुमत का आंकड़ा 41 है.