अडानी समूह शेयर बाजार में फिर से प्रवेश करेगा और धन जुटाएगा

यूएस शॉर्ट-सेलर हिंडनबर्ग द्वारा गलत काम करने के आरोपों के चार महीने भी नहीं हुए, अरबपति गौतम अडानी इक्विटी बाजारों में फिर से प्रवेश करना चाह रहे हैं। जो निवेशकों के बीच ग्रुप के भरोसे को परखने वाला अहम इवेंट होगा। अदानी समूह की प्रमुख कंपनी अदानी एंटरप्राइजेज और समूह की दो अन्य कंपनियों ने शेयरों या अन्य प्रतिभूतियों की बिक्री के जरिए धन जुटाने के लिए 13 मई को एक बैठक की योजना बनाई है। हालांकि, उन्होंने इस बात का खुलासा नहीं किया कि वे कितना पैसा जुटाना चाहते हैं। साथ ही इस बारे में भी कुछ नहीं बताया गया है कि वे इसके लिए किससे डील कर रहे हैं। हालांकि इस रिपोर्ट के बाद गुरुवार को शेयर बाजार में अडानी समूह की सभी 10 लिस्टेड कंपनियों के शेयरों में 2-4 फीसदी की तेजी आई. अडानी परिवार ने मार्च में समूह की चार सूचीबद्ध कंपनियों में अमेरिकी निवेश फर्म जीक्यूजी पार्टनर्स को शेयर बेचकर 1.9 अरब डॉलर जुटाए। हिंडनबर्ग रिसर्च रिपोर्ट के बाद से समूह की किसी भी बड़ी कंपनी ने इक्विटी बाजार में प्रवेश नहीं किया है। हिंडनबर्ग के आरोपों के बाद, अडानी समूह की कंपनियों के मार्केट-कैप में $150 बिलियन का क्षरण हुआ। हालांकि, फरवरी के बाद से शेयरों में कुछ उछाल देखने को मिला है।

Check Also

Fact Check: क्या महिलाओं को हर महीने 5100 रुपये देगी मोदी सरकार, आवेदन करने से पहले जानें डिटेल्स

पीआईबी फैक्ट चेक : इन दिनों सोशल मीडिया पर मोदी सरकार की एक योजना को लेकर …