ACB की भ्रष्टाचारियों पर बड़ी कार्रवाई:​​​​​​​बिलाईगढ़ जनपद पंचायत CEO कुलेश्वर गायकवाड़ सहित बस्तर, बलरामपुर और कवर्धा से घूस लेते धरे गए 3 पटवारी

 

ACB टीम ने बलौदाबाजार के बिलाईगढ़ में जनपद पंचायत CEO कुलेश्वर गायकवाड़ सहित जगदलपुर, कवर्धा और बलरामपुर में तीन पटावारियों को घूस लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। - Dainik Bhaskar

ACB टीम ने बलौदाबाजार के बिलाईगढ़ में जनपद पंचायत CEO कुलेश्वर गायकवाड़ सहित जगदलपुर, कवर्धा और बलरामपुर में तीन पटावारियों को घूस लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है।

छत्तीसगढ़ में शुक्रवार को कई जिलों में ACB ने कार्रवाई की। बलौदाबाजार के बिलाईगढ़ में जनपद पंचायत CEO कुलेश्वर गायकवाड़ सहित जगदलपुर, कवर्धा और बलरामपुर में तीन पटवारियों को घूस लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया है। ACB की यह कार्रवाई ACB SP पंकज चंद्रा और एडिशनल SP अमृता सोरी ध्रुव के नेतृत्व में रायपुर, जगदलपुर व अंबिकापुर की टीम ने की है।

ठेकेदार ने स्कूल अहाता निर्माण कार्य किया था। इसका बकाया 3 लाख रुपए का भुगतान किया जाना था। इस राशि के एवज में आरोपी जनपद पंचायत CEO कुलेश्वर गायकवाड़ (60) 20 हजार रुपए की रिश्वत मांग रहे थे।

ठेकेदार ने स्कूल अहाता निर्माण कार्य किया था। इसका बकाया 3 लाख रुपए का भुगतान किया जाना था। इस राशि के एवज में आरोपी जनपद पंचायत CEO कुलेश्वर गायकवाड़ (60) 20 हजार रुपए की रिश्वत मांग रहे थे।

बलौदाबाजार : 20 हजार रुपए लेते घर से पकड़े गए CEO

बलौदाबाजार में ठेकेदार ने स्कूल अहाता निर्माण कार्य किया था। इसका बकाया 3 लाख रुपए का भुगतान किया जाना था। इस राशि के एवज में आरोपी जनपद पंचायत CEO कुलेश्वर गायकवाड़ (60) 20 हजार रुपए की रिश्वत मांग रहे थे। इस पर ठेकेदार ने ACB से शिकायत कर दी। शिकायत के सत्यापन के बाद ACB ने ट्रैप का आयोजन किया और जनपद पंचायत CEO को रुपए लेते उनके ही बिलाईगढ़ स्थित सरकारी आवास से पकड़ लिया।

पटवारी मुकेश कुमार बिसाई पर आरोप है कि उन्होंने जमीन नामांतरण के लिए 8 हजार रुपए मांगे।

पटवारी मुकेश कुमार बिसाई पर आरोप है कि उन्होंने जमीन नामांतरण के लिए 8 हजार रुपए मांगे।

जगदलपुर : जमीन नामांतरण के लिए मांगे 8 हजार रुपए

बस्तर के एक व्यक्ति को अपनी जमीन का नामांतरण कराना था। इसके लिए उंगारपाल, भनपुरी के हल्का नंबर 13 में पटवारी मुकेश कुमार बिसाई से संपर्क किया। आरोप है कि उन्होंने नामांतरण के लिए 8 हजार रुपए मांगे। इस पर प्रार्थी ने ACB में शिकायत की। सत्यापन के बाद जगदलपुर ACB यूनिट ने ट्रैप किया और पटवारी मुकेश बिसाई को उसके ही बस्तर कार्यालय से रिश्वत के रुपए लेते गिरफ्तार कर लिया।

पटवारी अमित गुप्ता पर आरोप है कि उन्होंने बी-1, नक्शा, खसरा की नकल देने के एवज में 50,000 रुपए की रिश्वत की मांगी थी।

पटवारी अमित गुप्ता पर आरोप है कि उन्होंने बी-1, नक्शा, खसरा की नकल देने के एवज में 50,000 रुपए की रिश्वत की मांगी थी।

बलरामपुर : नक्शा और खसरा की नकल देने के बदले मांगे 50 हजार

ऐसे ही एक अन्य मामले में बलरामपुर जिले के राजपुर तहसील के हल्का नंबर 26 के पटवारी अमित गुप्ता पर आरोप है कि उन्होंने बी-1, नक्शा, खसरा की नकल देने के एवज में 50,000 रुपए की रिश्वत की मांगी थी। प्रार्थी की शिकायत का सत्यापन करने के बाद ACB की अंबिकापुर यूनिट ने ट्रैप का आयोजन किया। इसके बाद टीम ने तय रकम की पहली किश्त के रूप में 40 हजार रुपए लेने पहुंचे पटवारी अमित गुप्ता को गिरफ्तार कर लिया।

पटवारी गजेंद्र चंद्रवंशी पर आरोप है कि उन्होंने स्थानीय निवासी को ऋण पुस्तिका बनाकर देने की एवज में 11 हजार रुपए मांगे थे।

पटवारी गजेंद्र चंद्रवंशी पर आरोप है कि उन्होंने स्थानीय निवासी को ऋण पुस्तिका बनाकर देने की एवज में 11 हजार रुपए मांगे थे।

कवर्धा : ऋण पुस्तिका देने की एवज में मांगे 11 हजार रुपए

वहीं कवर्धा में भी सहसपुर लोहारा तहसील के ग्राम मानपुर में हल्का नंबर 22,23 के पटवारी गजेंद्र चंद्रवंशी पर आरोप है कि उन्होंने स्थानीय निवासी को ऋण पुस्तिका बनाकर देने की एवज में 11 हजार रुपए मांगे थे। इस पर शिकायत की गई तो ACB ने सत्यापन किया और रुपए लेने के लिए तारीख तय कराई। इसके बाद उनके ही कार्यालय में रिश्वत के रुपए लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। सभी पर कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

केंद्र सरकार पर उठाए सवाल- सोनिया गांधी ने चीन हमले में मारे गए बिहार रेजीमेंट के सैनिकों की शहादत को किया याद

15-16 जून 2020 की रात चीन के पीएलए सैनिकों के साथ टकराव में बिहार रेजिमेंट …