AAP Government Vs LG: एलजी का शासन आप सरकार से कैसे बेहतर? साबित करे बीजेपी- सौरभ भारद्वाज

नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता और विधायक सौरभ भारद्वाज ने रविवार को पार्टी मुख्यालय में प्रेसवार्ता को संबोधित किया। सौरभ भारद्वाज ने कहा कि दिल्ली की चुनी हुई सरकार को पूरी तरीके से दरकिनार कर केंद्र सरकार एक नया कानून लाने की कोशिश में है। जनसंघ ने आजादी के बाद सालों तक दिल्ली को अलग राज्य बनाने की लड़ाई को लड़ा है।

उन्होंने आगे कहा कि हम मानते थे कि उस जन संघ से निकली भाजपा कि कम से कम दिल्ली यूनिट इस बात की गंभीरता को समझेगी। मुझे मीडिया से आज ये मालूम हुआ कि दिल्ली भाजपा का 2 दिन का एक अधिवेशन चल रहा है। नगर निगम के अंदर करारी हार के बारे में चिंता शिविर रखा गया है। जिसमें भाजपा के दिल्ली प्रभारी बैजयंत पांडा ने कल कहा है कि दिल्ली में भाजपा कार्यकर्ता घर-घर जाएंगे और दिल्ली वासियों को बताएंगे कि केंद्र के हाथों में दिल्ली का आना और एलजी द्वारा दिल्ली का शासन चलाए जाना दिल्ली के फायदे की बात है।

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता को चुनौती है कि वो किसी भी विधानसभा क्षेत्र में खुली बहस कर बताएं कि एलजी का शासन कैसे बेहतर है। हम लोगों को बताएंगे कि जनता की सरकार कैसे बेहतर है। इसके बाद लोगों से पूछा जाए कि वे क्या चाहते हैं। उन्होंने कहा कि जनसंघ ने आजादी के बाद सालों तक दिल्ली को स्वतंत्र राज्य बनाने की लड़ाई को लड़ा है। आज उसी जनसंघ से निकली भाजपा दिल्ली की चुनी हुई सरकार को दरकिनार कर नया कानून लाने की कोशिश में है। यह बेहद शर्म की बात है कि भाजपा कह रही है हम अपने कार्यकर्ताओं को घर-घर भेजकर लोगों को बताएंगे कि एलजी का शासन बेहतर है। केंद्र सरकार दिल्ली की चुनी हुई सरकार की सारे अधिकार छीन रही है। जिस सरकार को लोगों ने 70 में से 62 सीटें देकर चुना है ऐसी सरकार को पंगु बनाया जा रहा है।

केंद्र सरकार दिल्ली से सारे अधिकार छीन रही है

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि मुझे लगता है कि यह बहुत शर्म की बात है। एक तरफ तो केंद्र सरकार दिल्ली की चुनी हुई सरकार की सारे अधिकार छीन रही है। जिस सरकार को लोगों ने 70 में से 62 सीटें देकर चुना है उन लोगों की सरकार को पंगु बनाया जा रहा है। दिल्ली भाजपा की बेशर्मी है कि वो कह रहे हैं कि हम घर जाकर बताएंगे कि क्या फायदा है।

उन्होंने कहा कि मैं भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता को चुनौती देता हूं कि वे दिल्ली में अपनी मर्जी की विधानसभा चुन लें। वहां अपने कार्यकर्ताओं को घर-घर भेजकर बताएं कि एलजी का शासन, दिल्ली की केजरीवाल सरकार से बेहतर है। उस विधानसभा में खुली बहस रखी जाए। उस बहस में आदेश गुप्ता चाहें तो खुद आएं और वहां पर लोगों के सामने खुली चर्चा हो, जिसमें वह बताएं कि एलजी का शासन कैसे बेहतर है? हम लोगों को बताएंगे कि चुनी हुई सरकार कैसे बेहतर है? वहीं लोगों से पूछ लिया जाए कि लोग क्या चाहते हैं? यह बहुत गंभीर और शर्म की बात है कि भाजपा पहले चोरी कर रही है और फिर सीनाजोरी कर रही है। मुझे आशा है आदेश गुप्ता हमारी इस चुनौती को स्वीकार करेंगे और बताएंगे कौन सी विधानसभा के अंदर खुली बहस रखी जाएगी।

Check Also

बालोद में ठग बाबा गिरफ्तार:शादी के 7 साल बाद भी बच्चा नहीं हो रहा था, घर पहुंचे बाबा ने प्रेग्नेंसी का लालच देकर 72 हजार रुपए की खिला दी जड़ी-बूटी

  पुलिस ने साइबर सेल की मदद से रायपुर के खरौरा निवासी दोनों आरोपियों को …