चुटकी भर इलायची किसी भी बड़े गुप्त रोग को चुटकी भर ठीक करती है, सोने से पहले ऐसे सर्व करें, जानिए…

इलायची एक ऐसी चीज है जो आपको लगभग हर भारतीय घर में मिल जाती है। आमतौर पर हम सभी इलायची का इस्तेमाल खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इसमें कई औषधीय गुण भी होते हैं। अगर नियमित रूप से इलायची का सेवन किया जाए तो शरीर को कई आश्चर्यजनक लाभ हो सकते हैं।

इलायची कई प्रकार की होती है। जैसे हरी इलायची और काली इलायची। इसके अलावा बड़ी इलायची, भूरी इलायची, नेपाली इलायची और बंगाल इलायची या लाल इलायची भी होती है। हरी इलायची का उपयोग रस्मों और मीठे व्यंजनों में किया जाता है। मसालों में मोटी काली इलायची का प्रयोग किया जाता है। आप जो भी इलायची खाते हैं उसके अपने अलग फायदे होते हैं। तो आइए बिना देर किए इलायची के फायदों के बारे में जानते हैं। 

इलायची के फायदे

1. आपको हैरानी होगी कि अगर इलायची को रोजाना खाया जाए तो यह सीजर जैसी गंभीर बीमारी को हरा सकती है। दरअसल, इलायची में एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रभाव होता है जो मुंह के कैंसर, स्किन कैंसर सेल्स से लड़ने में कारगर है। इसलिए कैंसर के मरीजों को रोजाना इलायची का सेवन करना चाहिए। अगर एक सामान्य व्यक्ति भी इसे रोज खाए तो कैंसर होने का खतरा कम होगा।

2. खराब जीवनशैली और अस्वास्थ्यकर खान-पान के कारण पुरुषों में यौन रोग या गुप्त रोग शुरू हो गए हैं। एक वृद्ध व्यक्ति रोग से परेशान है। ऐसे में इलायची आपकी यौन समस्या को दूर करने का काम कर सकती है। इसी कारण से थोड़ी सी हरी इलायची लें और इसे शहद के साथ उबालकर रात को सोने से पहले खाएं। आपकी सभी यौन समस्याओं को दूर करेगा।

4. गैस, एसिडिटी और पेट से जुड़ी सभी समस्याओं के लिए फायदेमंद। इसका सेवन आप रोजाना कर सकते हैं।

5. हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को भी रोजाना इलायची का सेवन करना चाहिए। इसमें मौजूद मैग्नीशियम और पोटैशियम न सिर्फ ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करता है बल्कि शरीर में ब्लड सर्कुलेशन को भी नॉर्मल करता है।

6. इलायची अस्थमा, सांस की समस्या या फेफड़ों का सिकुड़ना आदि समस्याओं में भी फायदेमंद होती है। इन रोगों से पीड़ित लोगों को इलायची को दिन में दो बार चबाकर खाना चाहिए।

 

Check Also

सोयाबीन की कीमतों में लगातार गिरावट ने किसान को कम दाम पर बेचने को मजबूर

किसान इस साल सोयाबीन की कीमतों पर स्टॉक कर रहे हैं , लेकिन बाजारों में सोयाबीन का राजस्व …